पीएम किसान की अगली किस्त के लिए 13 अक्टूबर तक यह काम कर लें UP के किसान, योगी सरकार ने दिया निर्देश

नई दिल्ली : पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत आपकी किस्त अगर रुक गई है या अभी तक नहीं मिली है और आप उत्तर प्रदेश के किसान हैं तो आपके लिए बड़ी खुशखबरी है। उत्तर प्रदेश कृषि विभाग राज्य के सभी जिलों में 11 से 13 अक्टूबर तक 'पीएम किसान समाधान दिवस' आयोजित करेगा। यहां आधार नंबर, नाम, खाता, आईएफएसीकोड जैसी दिक्कतों का समाधान होगा ताकि किसानों को दिसंबर की किस्त मिलने में कोई दिक्कत न हो। बता दें अब पीएम किसान पोर्टल पर नया पंजीकरण बंद है।

क्यों चलेगा अभियान

आधार आथंटिकेशन अनिवार्य हो जाने के कारण काफी संख्या में ऐसे किसान जिनका आधार संख्या इनवैलिड है या आधार कार्ड में लिखे नाम के अनुसार डेटा बेस में नाम फीड नहीं हुआ है, उनकी किसान सम्मान निधि का भुगतान केंद्र सरकार की ओर से रोक दिया गया है। ऐसे प्रकरणों के निस्तारण के लिए 'पीएम किसान समाधान दिवस' के रूप में तीन दिनी अभियान चलाया जा रहा है।

इसके लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम किसान से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए जिले स्तर पर 'पीएम किसान समाधान दिवस' चलाने का निर्देश दिया है। इस दौरान समाधान दिवस पर मुख्य रूप से इनवैलिड आधार और आधार के अनुसार नाम सही कराया जाएगा। अपर मुख्य सचिव कृषि डा. देवेश चतुर्वेदी ने इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं।  जिन किसानों को योजना के तहत कम से कम एक किस्त प्राप्त हुई है, किंतु उनका आधार संख्या या नाम गलत है तो ऐसे किसानों का विवरण संबंधित बैंक से प्राप्त कर, उनका शत प्रतिशत सत्यापन कराकर डाटा दुरुस्त कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए कृषि विभाग व अन्य विभागों में कार्यरत कंप्यूटर ऑपरेटरों को तीन दिन के लिए राजकीय बीज गोदामों पर तैनात किया जाए।

इसकी पुष्टि करते हुए उप निदेशक कृषि गोरखपुर संजय सिंह कहते हैं, ‘‘प्रत्येक विकास खंड के राजकीय कृषि बीज भंडार पर 3 दिवसीय डेडीकेटेड कैम्प लगाकर पहले से पंजीकृत ऐसे कृषक जिनकी किस्तें इनवैलिड आधार, नाम मिसमैच अथवा अन्य किसी कारण से रुकी हैं या कुछ किस्तों के बाद सुधार योग्य कारणों से रुक गई हैं, अभिलेख यथा कृषक व उसकी पत्नी/पति के आधार की छायाप्रति, बैंक पास बुक की छाया प्रति और लेखपाल के द्वारा पात्रता प्रमाणित घोषणापत्र व हिस्सा प्रमाणित खतौनी व तद् विषयक आवेदन पत्र प्राप्त करके उनके डाटा में सुधार का कार्य किया जाएगा। अब पीएम किसान पोर्टल पर नया पंजीकरण बंद है, अतः उक्त कैम्प में ने पंजीकरण के लिए कृषक संपर्क न करें।’’

कहां लगेंगे कैंप

जिन किसानों का आधार नंबर गलत होने या आधार के अनुसार नाम सही न होने के कारण प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल रहा है, वे 11 से 13 अक्टूबर के बीच कार्यालय अवधि में अपने विकास खंड के राजकीय बीज गोदाम पर आधार कार्ड और बैंक खाते के विवरण के साथ पहुंचकर अपना डाटा ठीक करा सकते हैं। इसके अतिरिक्त अन्य समस्या होने पर भी किसान समाधान दिवस में मदद ली सकती है।

कब आएगी अगली किस्त

बता दें पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मोदी सरकार हर साल देश के 10 करोड़ से अधिक किसानों को 6000 रुपये 2000-2000 रुपये की तीन बराबर किस्तों में दे रही है। अब तक सरकार नौ किस्तें जारी कर चुकी है और अगली किस्त एक दिसंबर 2021 से 31 मार्च 2022 के बीच कभी भी आ सकती है।

पने घर पर भी कर सकते हैं सुधार

पीएम किसान की लटकी है किस्त या ट्रांजैक्शन हो रहा फेल या फिर आधार से संबंधित करेक्शन में हो रही है दिक्कत तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। आप पेमेंट से लेकर नए रजिस्ट्रेशन से संबंधित परेशानियों का हल आपके मोबाइल में है। आइए जानें कैसे आप अपनी परेशानियों को सरकार से बता सकते हैं...

स्टेप-1: सबसे पहले आप पीएम किसान की वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।

स्टेप-2: यहां होम पेज के दाएं नीचे एक हेल्प से हेल्प डेस्क को टैप या क्लिक करें। आपके सामने अब एक नए पेज पर Query Form खुलेगा। यहां दो ऑप्शन मिलेंगे। Register Query और Know the Query Status. अगर आप पहली बार जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो  Register Query को क्लिक करें और Aadhar Number या Account Number या फिर  Mobile Number डालकर Get Details पर क्लिक करें। अब आपके पास ऐसा पेज खुलेगा..

स्टेप-3: नए पेज पर आपको अब तक मिली किस्तों का स्टेटस सामने होगा। इसमें नीचे Grievance Type ड्रॉप-डाउन मीनू होगा। यहां जिस चीज के बारे जानकारी चाहिए या शिकायत करनी है, उसे सिलेक्ट करें और टेक्स्ट बाक्स में अपनी समस्या लिखकर कैप्चा कोड डालें। इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें। आपका अनुरोध सरकार तक पहुंच जाएगा। 

इसके कुछ दिन बाद अपनी क्वेरी का स्टेटस चेक करते रहें।