जनतांत्रिक व्यवस्था बदल संविधान बदल रही है केंद्र व प्रदेश सरकार : रामगोविंद चौधरी

बलिया । केंद्र व प्रदेश की सरकार जनतांत्रिक व्यवस्था खत्म कर संविधान को सरकार बदलना चाहती है।यह संवोधन नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने बरियारपुर ,खरौनी में एक जनसभा के दौरान प्रदेश सरकार पर जमकर केंद्र व प्रदेश सरकार पर हमला किया। कहा कि जिन लोगों ने वोट दिया उन्ही को मार डाला। 2022 विधानसभा के चुनाव में परिणाम जो भी आये लेकिन समाजवादी पार्टी का गांव - गांव भ्रमण कर लोगों की समष्याओं के समाधान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराया। रविवार को कहा कि कल कारखाना सरकार ने तो बेच ही दिया। जनतांत्रिक व्यवस्था खत्म कर संविधान को सरकार बदलना चाहती है।

रविवार को सूबे सरकार का साढ़े चार साल का कार्यकाल हो  गया। वहीं जिले के प्रभारी मंत्री अनिल राजभर सरकार की योजनाओं के बारे में बताने आये हैं कि सरकार ने साढ़े चार साल में क्या - क्या किया।

कहा कि अखिलेश सरकार की योजनाओं को बंद कर सरकार वाहवाही में लगी ।जनता समझ गयी है और2022 में बनेगी अखिलेश सरकार जनता है सब जनती है कि कहाँ क्या हो रहा है किसी से छुपा नही है। देश के प्रधानमंत्री द्वारा जो कुछ बढ़ावा दिया गया। उसी को देखते हुए जनता सावधान हो गई है।   55 लाख महिलाओं का 5 सौ प्रति माह का पेंशन अखिलेश सरकार ने दिया उसे  सरकार ने किया बन्द , बेटियों के शादी अनुदान 20 हजार दिया जा रहा था उसे भी बन्द किया। तकनीकी युग है हर वर्ग के पढ़ने वाले छात्र - छात्रों को लैपटॉप दिया गया।उसे भी बंद कर दिया गया। घाघरा - गंगा के बाढ़ से तबाही है और भारी बरसात के पानी से गांव जलमग्न हो गए सभी फसल नष्ट हो गए। सरकार ने एक पैसा नही दिये। अखिलेश यादव ने अपनी सरकार में अपने पैसे तथा सरकार के पैसे से प्रदेश के सभी किसानों के फसल का बीमा कर दिया। अखिलेश ने फ्री सिंचाई की। किसानों 50 हजार तक कर्ज माफ किया जो कॉपरेटिव बैंक से लिये थे। किसान दुर्घनाबीमा योजना लागू किया।यदि किसान की एक्सीडेंट में मौत हो जाय परिवार अनाथ हो जाता है, सांप काटने से मौत हो जाय, आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो जाने पर परिवार अनाथ हो जाता है।उसके लिए हमने पांच लाख मुआवजा दिया। यह सरकार आते ही उन सब योजनाओं को बंद कर दी। सभा मे मुख्यरूप से विधानसभा अध्यक्ष सपा हरेन्द्र सिंह, अशोक यादव,ललन बैशाखी, सुनील मौर्य,हीरालाल वर्मा,रमायण यादव,सुनील तिवारी,पप्पू तिवारी,बीरेंद्र दूधिया,हरेन्द्र सिंह,रामप्रसाद सिंह,उमेश मिश्र,अंगद तिवारी,राहुल सिंह,शुभम सिंह,कमलाकर यादव चन्द्रशेखर यादव ,रमा यादव,चंदन सिंह,दिलीप।