जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक सम्पन्न

बहराइच। जिलाधिकारी डॉ दिनेश चन्द्र की अध्यक्षता में मंगलवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक सम्पन्न हुई। आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा में बताया गया कि जनपद में 321700 गोल्डेन कार्ड बनाये गये है एवं समस्त अन्त्योदय कार्डधारकों के गोल्डेन कार्ड बनाये जाने की प्रकिया शुरू कर दी गयी है। इस सम्बन्ध में जिलापूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये गये है कि कोटेदारों के माध्यम से गोल्डेन कार्ड बनाये जाने में सहयोग प्रदान करें। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना में अच्छी उपलब्धि हेतु सराहना करते हुए निर्देश दिये गये कि तृतीय किश्त के लम्बित आवेदन पत्रों का यथाशीघ्र शत प्रतिशत भुगतान कराया जाना सुनिश्चित किया जाय।

यूपीपीएसयूके जिला समुदाय समन्वयक यशपाल मिश्रा द्वारा वीएचएसएनडी दिवसों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्राम स्वास्थ्य सूचकांक रजिस्टर आशाओं द्वारा अपटेड नही किया जा रहा है जिसके कारण प्रथम त्रैमास में गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण की रिर्पोटिंग नही हो रही है। पयागपुर,रिसिया, शिवपुर में वजन मशीन, हीमोग्लोबिन मीटर का प्रत्येक सत्र पर अभाव पाया गया। इस सम्बन्ध में निर्देश दिया गया कि सम्बन्धित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्साधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाय। साथ ही सभी लाजिस्टिक की उपलब्धता शतप्रतिशत सुनिश्चित करायी जाय। नये किराये के भवन में स्थापित होने वाले उपकेन्द्रों के सम्बन्ध में बताया गया कि जनपद में 296 नये उपकेन्द्र स्थापित किये जाने है। जिसमें 184 किराये के भवन चिन्हित कर लिये गये है शेष चिन्हित किये जा रहे है। इस सम्बन्ध में निर्देश दिया कि शीघ्र शतप्रतिशत मानक के अनुरूप भवन चिन्हित कर रिपोर्ट प्रेषित करें।

 जननी सुरक्षा योजना के लाभार्थियां का शत प्रतिशत भुगतान समय से सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये गये है। कोविड 19 की टीकाकरण की उत्कृष्ट उपलब्धि हेतु महसी, मोतीपुर, फखरपुर, रिसिया व चित्तौरा के प्रभारी चिकित्साधिकारियों को सम्मानित किया गया। बैठक के दौरान अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमो, क्षय नियंत्रण कार्यक्रमों, कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम, अंधता निवारण कार्यक्रम, गैर संचारी रोग नियंत्रण इत्यादि कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए प्रगति में आपेक्षित सुधार के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी डॉ चन्द्र द्वारा निर्देश दिये गये कि सभी डाक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, अपने तैनाती स्थल पर रहकर शासन के मंशानुसार स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इस सम्बन्ध में किसी प्रकार की लापरवाही उदासीनता को अत्यन्त गंभीरता से लिया जायेगा। प्रभारी चिकित्साधिकारी स्वास्थ्य योजनाओं एवं कार्यक्रमों के प्रगति की नियमित समीक्षा करते रहे। धीमी प्रगति वाले योजनाओं एवं कार्यक्रमों के कारणों का निराकरण करते हुए अपेक्षित सुधार लाना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर सीडीओ कविता मीना, एडीएम मनोज, सीआरओ अवधेश कुमार मिश्र, एसडीएम सदर सौरभ गंगवार आईएएस, प्राचार्य मेडिकल कालेज डा. अनिल के. साहनी, सीएमओ डा. एस. के. सिंह, सीएमएस डा. ओ.पी. पाण्डेय, सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी, प्रभारी चिकित्साधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।