उम्र साबित करने के लिए आधार कार्ड वैध नहीं

आधार कार्ड पर बड़ा फैसला सुनाते हुए इसे उम्र का सबूत मानने से इनकार कर दिया है। हाईकोर्ट, हरियाणा के जींद जिले से घर से भागे एक प्रेमी जोड़े की याचिका पर सुनवाई कर रहा था। जहां लड़की ने अपने बालिग होने के सबूत के तौर पर आधार कार्ड पेश किया था। जिसपर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने यह स्पष्ट कर दिया कि आधार कार्ड का उपयोग आयु साबित करने के लिए नहीं किया जा सकता है।

कोर्ट ने कहा कि आधार के लिए आवेदन के समय आयु के रूप में आमतौर पर किसी दस्तावेज का विवरण नहीं मांगा जाता है। जस्टिस अनमोल रतन सिंह ने हरियाणा से भागे हुए जोड़े की याचिका पर सुनवाई करते हुए ये बातें कहीं। कोर्ट ने राज्य के अधिकारियों को भी आदेश दिया कि लड़की की सही उम्र का पता लगाया जाए और अगर गलत निकलता है तो कानूनी कार्रवाई की जाए।इस मामले में प्रेमी जोड़े ने घर से भागकर शादी कर ली थी। लड़की के परिवार वाले इस शादी के लिए राजी नहीं थे, जिसके बाद लड़की घर से भाग गई और 26 अगस्त को अपने प्रेमी के साथ शादी कर ली। शादी के जब उन्हें अपने परिवार वालों और रिश्तेदारों से जान का डर लगा तो वो कोर्ट की शरण में सुरक्षा पाने के लिए पहुंच गए। जहां कोर्ट में उन्होंने अपने बालिग होने का प्रमाण के लिए आधार कार्ड पेश किया था। जिसपर कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है।