मौजूदा पारित तीनों कृषि कानून किसानों के हित में नहीं-राजेंद्र यादव

जखनियां (गाजीपुर) : मनिहारी विकास खण्ड क्षेत्र के हंसराजपुर बाजार में संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से एक जनसभा का आयोजन किया गया।सभा को संबोधित करते हुए उतर प्रदेश किसान सभा के प्रान्तीय महामंत्री पूर्व विधायक राजेंद्र यादव ने कहा कि मौजूदा पारित तीनों कृषि कानून आम किसानों को समूल नष्ट कर देने वाले कानून है। तीनों कानून प्रदेश के लाखों मझोले और सीमांत किसान के ऊपर भारी पड़ेंगे और उनकी समूची खेती-किसानी कर्ज में फँस के बिक जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि आवश्यक वस्तुओं की सूची से अनाज, फल और सब्जी को हटा लेने से जमाखोरी को बढ़ावा मिलेगा, कीमतों में अस्थिरता रहेगी जिसका खामियाजा देश की बेहाल, परेशान जानता को भुगतना पड़ेगा। किसान सभा के जिलाध्यक्ष जनार्दन राम व किसान संघर्ष समिति के प्रदेश महासचिव रमेश यादव ने कहा कि मोदी सरकार देश की खेती-किसानी को कॉर्पोरेट के हवाले करने का कुचक्र रच रही है। न्यूनतम समर्थन के खत्म होने से प्रदेश के अधिकांश किसान (लगभग 86 फीसद) बर्बादी के कगार पर पहुंच जाएंगे। वहीं सीमांत किसान बर्बाद हो जाएंगे। बड़ी कंपनियों के कुचक्र में फंस के किसान बंधुआ मजदूर बन कर रह जाएगा।

   इस अवसर पर किसान नेता विजय बहादुर सिंह, जनार्दन राम,राजदेव यादव, अशोक मिश्रा, नसीरुद्दीन, राम अवध सिंह,दिना सिंह,रामकृत एडवोकेट,भोला यादव, जितेन्द्र यादव, मार्कंडेय प्रसाद,रामकेर यादव, बिरेंद्र गौतम, योगेन्द्र यादव आदि उपस्थित रहे अध्यक्षता बटोर गुप्ता व संचालन मु.नसरुद्दीन मास्टर ने किया।