योगी की अगुवाई में उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनने से कोई नहीं रोक सकता : राजनाथ सिंह

महराजगंज के चौक बाजार स्थित महाविद्यालय में राष्ट्रसंत गोरक्षपीठाधीश्वर ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की भव्य प्रतिमा का अनावरण

महराजगंज। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है और इसे अब उत्तम प्रदेश बनने से कोई नहीं रोक सकता है। योगी जी धार्मिक अनुष्ठान के साथ विकास के नए मानदंड स्थापित करने का काम करते जा रहे हैं। योगी जी ने उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सारी योजनाओं का अक्षरशःवरण किया है। कोरोना संकट में सीएम योगी की भूमिका की पूरी दुनिया मे प्रशंसा हुई। पूरी दुनिया ने माना कि भारत में उत्तर प्रदेश एक

ऐसा राज्य है जहां के मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी के मार्गदर्शन कोरोना की चुनौती को स्वीकार कर उस पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पाया। कोविड टीकाकरण में भी यूपी का कार्य उल्लेखनीय है। योगी जी मे सत्ता की शक्ति के साथ दृढ़ इच्छाशक्ति है।

राजनाथ सिंह शुक्रवार को महराजगंज के चौक बाजार स्थित महाविद्यालय में राष्ट्र संत गोरक्षपीठाधीश्वर ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की भव्य प्रतिमा के अनावरण समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कभी उत्तर प्रदेश में गुंडे वर्दी पर भारी पड़ते थे आज वर्दीधारी उन गुंडों पर भारी हैं। योगी जी की सरकार ने अपराधियों की 18600 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। अपराधियों का मनोबल तोड़ना और सज्जनों का मनोबल बढ़ाना ही सत्ता का धर्म है और सीएम योगी आदित्यनाथ यही कर रहे हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि नींद में भी उत्तर प्रदेश ही नहीं भारत का कोई माँ का लाल यह नहीं कह सकता कि योगी जी के शासनकाल में कहीं भ्रष्टाचार हुआ हो।  यदि हम उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाना चाहते हैं तो कानून व्यवस्था इसकी पहली शर्त है। इस सच्चाई को कोई भी नहीं नकार सकता, यहां तक हमारे विरोधी भी, कि यूपी में योगी आदित्यनाथ एक ऐसी शख्सियत हैं जिनका नाम लेते ही अपराधियों का दिल धड़कने लगता है। रक्षा मंत्री ने उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के विकास कार्यों की जमकर तारीफ की। कहा कि हर जिले में मेडिकल कॉलेज, सात नए विश्वविद्यालयों की स्थापना, 42 लाख लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा आदि कितने ऐसे काम हैं जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता।

रक्षा मंत्री ने कहा कि 2014 में देश में एक ऐतिहासिक परिवर्तन हुआ। जनता ने बहुमत के साथ नरेंद्र भाई मोदी दिल्ली में स्थापित किया। पीएम मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से आगे बढ़ रहा है। अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत का मान बढ़ा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की सूझबूझ देखिए 2017 में जब उत्तर प्रदेश की कमान सौंपने की बात आई तो उन्होंने योगी आदित्यनाथ का चुनाव या ना आज सर्व स्वीकार्य है।

सेना को मुंहतोड़ जवाब देने की पूरी छूट, इजाजत लेने की जरूरत नहीं

रक्षा मंत्री विधायक आज भारत कमजोर नहीं दुनिया का ताकतवर देश है। सेना को हमने हिदायत दे रखी है पहला आक्रमण हम नहीं करेंगे। यह हमारे देश का प्राचीन इतिहास रहा है लेकिन किसी ने भी आक्रमण करने की पहल की तो सेना को किसी का इजाजत लेने की जरूरत नहीं है। आक्रमण करने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। आज कोई भी हमारी एक इंच जमीन पर कब्जा नहीं कर सकता है।

योगी के रूप में भविष्य को गर्भ में ही देख लिया था महंत अवेद्यनाथ ने

रक्षा मंत्री ने कहा कि पूज्य महंत अवेद्यनाथ जी ने राष्ट्रीयता, सामाजिक समरसता और समाज को जोड़ने का काम किया, योगी आदित्यनाथ उन्हीं के मार्ग पर चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य के गर्भ में क्या है उसे संत देख लेते हैं। महंत अवेद्यनाथ जी भी ऐसे ही थे। उन्होंने ऐसा उत्तराधिकारी चुना जो सनातन संस्कृति की रक्षा कर सके, सामाजिक समरसता का लक्ष्य प्राप्त कर सके और जरूरत पड़ने पर उत्तर प्रदेश का नेतृत्व भी कर सके। ये सारे कार्य योगी जी कर रहे हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि मैंने बहुत प्रतिमाओं का अनावरण देखा। सामान्यतः उसके अनावरण में लोगो की बहुत ज्यादा रुचि नही होती लेकिन यहां जिस तरह लोग ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ जी की प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम में शांत चित्त से बैठे हैं, ये सनातन धर्म व संस्कृति के प्रति आस्था को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि मैं 20-21 वर्ष का था तभी से ही महंत अवेद्यनाथ जी का सानिध्य और आशीर्वाद मिलता रहा। बताया कि 1978 में जब मैं गोरखपुर विश्वविद्यालय से एमएससी कर रहा था, तब कश्मीर के अलगाववादियों ने भारत के एक प्लेन की हाईजैकिंग कर ली। मैंने एक छात्र संगठन बनाया था, जनता में रोष था। हमनें महंत जी से मिलकर गोरखपुर बंद करवाने के लिए आग्रह किया। उन्होंने कहा कि ठीक है, लेकिन किसी को दिक्कत या किसी के साथ अशिष्टता नहीं होनी चाहिए। उनके मार्गदर्शन में गोरखपुर पूरी तरह बंद रहा। रक्षा मंत्री ने कहा कि नाथ सम्प्रदाय ने समाज को जोड़ने का कार्य किया है। अयोध्या के मंदिर आंदोलन में गोराक्षपीठ की भूमिका का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि का इतिहास महंत दिग्विजयनाथ और महंत अवेद्यनाथ से सुशोभित होगा।  उन्होंने कहा कि भारत की सनातन संस्कृति छुआछूत के विरोध में सामाजिक समरसता को बढ़ाती है। यह संस्कृति वसुधैव कुटुंबकम की है और नाथ संप्रदाय व गोरक्षपीठ ने यही संदेश आगे बढ़ाया है।

मल्टीपल रोल वाले है योगी जी

रक्षा मंत्री ने कहा कि अपनी एमएससी की पढ़ाई के दौरान मैंने डबल रोल वाली राम और श्याम फ़िल्म देखी थी। किसी एक्टर का डबल रोल तो देखा था लेकिन आज मैं योगी आदित्यनाथ जी को डबल नहीं मल्टीपल रोल में देखता हूँ। यह अदभुत रोल है।

मोदी जी के नेतृत्व में दूर दूर तक नजर नहीं आते घुसपैठिए : योगी

ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा अनावरण समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 के पूर्व देश की आंतरिक स्थिति बहुत खराब थी। कहीं नक्सलवाद व माओवाद से लोग टत्रस्त थे तो कहीं पूर्वोत्तर का उग्रवाद सिर पर था। कहीं कश्मीर का उग्रवाद देश की एकता और अखंडता को चुनौती देता था। धीरे-धीरे उनके दायरे को सिकुड़ते हुए भारत की आंतरिक स्थिति को सुदृढ करने में सरकार को सफलता मिली। दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ जब यशस्वी नेतृत्व मिलता है तो ऐसे ही होता है। पहले जो आंखें दिखाते थे, घुसपैठ करते थे वह अब पीएम मोदी के नेतृत्व में देश के सीमावर्ती इलाकों में दूर-दूर तक नजर नहीं आते। यह नए भारत की तस्वीर है जो दुनिया के सभी देशों से आंख में आंख मिलाकर बात करता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि याद करिए  2014 के पहले भारत की आंतरिक की स्थिति क्या थी। चाहे वह वाह्यसुरक्षा का मामला हो या आंतरिक सुरक्षा का। जब मर्जी प्लेन हाईजैक कर लिया गया जब मर्जी विस्फोट करके निर्दोष नागरिक मार दिए जाते थे। जिस देश की मर्जी होती थी भारत के अंदर घुसपैठ कर लेता था। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में आज नए भारत ने जो तेज दिखाया है उसका जज्बा पूरी दुनिया में प्रदर्शित हो रहा है।

चौक बाजार से विशेष लगाव था ब्रह्मलीन महंतश्री का

मुख्यमंत्री ने कहा कि चौक बाजार क्षेत्र से ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ जी का विशेष लगाव था। जब यहां शिक्षा का केंद्र नही था, तब ब्रह्मलीन गुरु दिग्विजयनाथ के नाम पर पूज्य अवेद्यनाथ जी ने इंटर कॉलेज की स्थापना इस क्षेत्र में की। बालिकाओं के लिए डिग्री कॉलेज भी उन्ही के प्रयासों से संभव हुआ। जिस डिग्री को प्राप्त करने के लिए छात्र छात्राओं को 70 किलोमीटर दूर गोरखपुर जाना पड़ता था, आज वह यहीं उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे है। उन्होंने कहा कि महराजगंज चौक बाजार क्षेत्र अब विकास के साथ तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। आने वाले दिनो मे रोजगार की सम्भावनाओं को तेजी से बढ़ाने का काम भी किया जाएगा।

यूपी को रोल मॉडल बनाया योगी आदित्यनाथ ने : पंकज चौधरी

 इस अवसर पर केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने कहा किपहले उत्तर प्रदेश में कोई भी पूंजी निवेश करने को तैयार नहीं होता था। आज शानदार कानून व्यवस्था से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धारणा बदल दी है। आज उत्तर प्रदेश ईज आफ डूइंग बिजनेस में पूरे देश में दूसरे पायदान पर है। योगी आदित्यनाथ ने कोरोना का काल में उत्तर प्रदेश को पूरे देश के लिए रोल मॉडल बनाया। श्री चौधरी ने ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ से अपने जुड़ाव का जिक्र करते हुए कहा कि महंत जी उनके मार्गदर्शक थे। 1991 और 1996 में लोकसभा में भी उनका सानिध्य मिला। ब्रह्मलीन महंतश्री आजीवन सामाजिक कुरीतियों को दूर कर सामाजिक समरसता के अभियान को बढ़ाने में लगे रहे।

प्रतिमा अनावरण कर महंतश्री के चरणों में अर्पित किया श्रद्धासुमन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रसंत गोरक्षपीठाधीश्वर ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की भव्य प्रतिमा का बटन दबाकर अनावरण करने के बाद महंतश्री के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित किए और शीश झुकाकर, करबद्ध हो उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह, मस्तनाथ पीठ रोहतक के महंत व अलवर के सांसद महंत बालकनाथ, अयोध्या दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेश दास व महाराजगंज जिले के सभी विधायक भी मौजूद रहे।