लापरवाही में हटाए गए चौकी प्रभारी


डीजल-पेट्रोल बेचने वाले गिरोह के पर्दाफाश के बाद मंगलवार को भुअर चौकी प्रभारी धनंजय कुमार को हटा दिया गया। उन्हें वजीरगंज कोतवाली से सम्बद्ध कर दिया गया है। शाम को सोशल मीडिया पर मैसेज चौकी प्रभारी और चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का वायरल हुआ। पहले अफसरों ने माना कि कार्रवाई हुई है। मगर रात में डीसीपी पश्चिम सोमेन वर्मा ने कहा कि सिर्फ चौकी प्रभारी को प्रशासनिक आधार पर हटाया गया है। रविवार तड़के लालाबाग में ठाकुरगंज पुलिस और आबकारी विभाग की टीम ने रामेन्द्र उर्फ रामू को गिरफ्तार कर गोदाम से 28 हजार लीटर मिलावटी डीजल-पेट्रोल बरामद किया था। रामू के तीन गोदाम से रात भर मिलावटी ईंधन की सप्लाई होती थी। स्थानीय पुलिस की साठगांठ का भी आरोप लगा था। बताया जाता है कि पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने ठाकुरगंज पुलिस से नाराजगी जतायी थी। इसके बाद भुअर चौकी प्रभारी और वहां तैनात सिपाहियों को लापरवाह माना गया था। इसी पर डीसीपी कार्यालय से पहले इन सभी के खिलाफ कार्रवाई के लिये बताया गया। सोशल मीडिया पर जब यह मैसेज काफी वायरल हुआ तो अचानक अफसरों के बयान बदल गये। डीसीपी सोमेन वर्मा ने बताया कि मिलावटी ईधन बिकने के मामले में यह कार्रवाई नहीं हुई बल्कि प्रशासनिक आधार पर हुई है।