एकता कपूर नहीं बढ़वा पाई अपनी सैलरी, बालाजी के शेयरहोल्डर्स ने रिजेक्ट किया प्रस्ताव

आप लोगों को यह जानकार हैरानी होगी कि मशहूर फिल्म और टीवी शोज निर्माता एकता कपूर भी किसी एम्पलॉय की तरह हर महीने सैलरी लेती हैं। दरअसल, एकता कपूर की कंपनी बालाजी टेलीफिल्म्स के शेयर और लोगों के पास भी हैं, जिसके चलते उनकी मां शोभा कपूर और एकता कपूर दोनों को हर महीने सैलरी मिलती है। इस बीच एक खबर सामने आई है कि हाल ही में एकता और शोभा की सैलरी को बढ़ाने का प्रस्ताव रखा गया था, जिसे बालाजी टेलीफिल्म्स के शेयरहोल्डर्स ने रिजेक्ट कर दिया है।  एकता, बालाजी टेलीफिल्म्स में जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और उनकी मां शोभा कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। 

ब्लूमबर्ग क्विंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, 31 अगस्त को एकता और शोभा की सैलरी को लेकर एक जनरल मीटिंग रखी थी, जिसका फैसला 2 सिंतबर को सामने आया। इस दौरान एक वोटिंग भी रखी गई थी, जिसके तहत यह फैसला किया जा सके कि एकता और शोभा की सैलरी बढ़नी चाहिए या नहीं। एकता की सैलरी बढ़ाने के खिलाफ 55.4 प्रतिशत वोट डले, तो वहीं शोभा के खिलाफ 56.7 वोट डाले गए। बिजनस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि शोभा कपूर को फाइनेंशियल ईयर 2021 में 2.1 करोड़ रुपये बतौर सैलरी का भुगतान किया गया था। यह कंपनी के किसी भी एवरेज एम्प्लोयी की सैलरी 59.7 गुना था। जबकि फाइनेंसियल ईयर  2022 में मुनाफे में कमी को मानते हुए शोभा कपूर की सैलरी करीब 2.69 करोड़ है।

फाइनेंशियल ईयर 2021 में वह 50 फीसदी बोर्ड मीटिंग्स से गायब रही हैं। पिछले तीन साल में वह 75 फीसदी बोर्ड मीटिंग में ही मौजूद रही हैं। एकता कपूर को फाइनेंशियल ईयर 2021 में कंपनी से कोई सैलरी नहीं मिला। जबकि शोभा कपूर की तरह ही फाइनेंशियल ईयर 2022 में मुनाफे में कमी को देखते हुए उनका एस्टिमेटेड सैलरी 2.69 करोड़ रुपये है। यह कंपनी में उनके बराबर काम कर रहे साथियों के अनुरूप है। एकता कपूर और उनके परिवार ने 1994 में बालाजी टेलीफिल्म्स की स्थापना की थी। रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी पिछले सात साल से घाटे में चल रही है। जबकि कोरोना महामारी ने नुकसान को और बढ़ा दिया है। एकता कपूर ने बीते साल वेतन के रूप में मिलने वाले 2.5 करोड़ रुपये छोड़ दिए थे। उन्होंने यह रकम कंपनी के कर्मचारियों को महामारी में फाइनेंशियल हेल्प के तौर पर देने के लिए छोड़ा था।