पुस्तकें -गागर में सागर

शब्द समिधा जिसमें संकलित,

इतिहास भूगोल है समाहित।

सभ्यता संस्कृति की द्योतक,

अनमोल होती है पुस्तक।


ज्ञान विज्ञान का पाठ पढ़ाये,

वेद पुराण ये हमें सिखाये।

शिष्टाचार व्यवहार की उद्घोषक,

अनमोल होती है पुस्तक।


बिन पुस्तक के संवाद नहीं,

भाषा लिपि का ज्ञान यहीं।

देश विदेश से हमें कराती अवगत,

अनमोल होती है पुस्तक।


सहित्य का खजाना इसमें,

सप्तसुरों का सरगम इसमें।

नित नवनिर्माण का देती दस्तक,

अनमोल होती है पुस्तक।


गागर में सागर है होती,

धरा,ब्रह्मांड का ज्ञान है होती।

पहुँचाती हमें मंज़िल तक,

अनमोल होती है पुस्तक।


       रीमा सिन्हा(लखनऊ)