स्पोर्टस स्टेडियम में बन रहे सैन्थेटिक एथलेटिक रनिंग ट्रेक की गुणवत्ता अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप बनाई जाएः मण्डलायुक्त



मण्डलायुक्त ने स्टेडियम का किया औचक निरीक्षण

सहारनपुर। मण्डलायुक्त लोकेश एम. ने निर्देश दिए कि स्पोर्टस स्टेडियम में बन रहे सैन्थेटिक एथलेटिक रनिंग ट्रेक का बच्चों द्वारा प्रयोग करने के बाद गुणवत्ता को देखते हुए ही पूरा भुगतान किया जाएगा। उन्होनंे कहा कि कार्यदायी संस्था शीघ्रता से कार्य पूरा करे और कार्य पूर्ण होने के उपरान्त मैदान से सारा मलबा और अनावश्यक सामग्री हटवाकर मैदान साफ करके देना सुनिश्चित करे। उन्होने निर्देश दिए कि स्टेडियम की चारदीवारी के पास उगी घास, झाडी आदि को भी साफ कराया जाए। मैदान को मिट्टी डालकर समतल किया जाए जिससे जलभराव न हो। उन्होंने क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी को निर्देश दिए कि टैªक के अलावा बाकी के मैदान को भी पूर्ण रूप से प्रयोग करने लायक किया जाए। उन्होंने कहा कि निर्धारित मानक और काय की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जायेंगा। एक हफ्ते बाद उनके द्वारा दौबार निरीक्षण कर कार्यों का जायजा लिया जाएगा।
मण्डलायुक्त लोकेश एम. ने आज डॉ भीमराव अम्बेडकर स्पोर्टस स्टेडियम में बन रही अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के 400 मी0 (08 लेन) के सैन्थेटिक एथलेटिक रनिंग ट्रेक का औचक निरीक्षण कर कार्यदायी संस्था को यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एथेलेटिक रनिंग ट्रेक की गुणवत्ता अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप होनी चाहिए। निर्माण कार्य में उच्च गुणवत्ता के साथ अन्तर्राष्ट्रीय मानकों का पालन भी कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि 400 मी0 (08 लेन) के सैन्थेटिक एथलेटिक रनिंग ट्रेक के अधूरे कार्या को वर्षा ऋतु के बाद शीध्रता शीध्र पूरा कराया जाए। इसमें किसी स्तर पर लापरवाही न बरती जाए।
मण्डलायुक्त द्वारा ट्रेक निर्माण में प्रयुक्त किये जा रहे अव्यवों की जानकारी लेते हुये मौके पर उपस्थित परियोजना प्रबन्धक, यूपीपीसीएल-यूिनट 26 को निर्देशित किया गया कि ट्रेक में उच्च क्वालिटी की सामग्री का प्रयोग करते हुये शीघ्रता से कराया जाये ताकि बच्चों को जल्द से जल्द खेल एवं व्ययाम हेतु ट्रेक उपलब्ध हो सके। उन्होंने ट्रेक के पास ग्राउण्ड के ऊंचा-नीचा होने से जल भराव की सम्भावना को देखते हुए। उस स्थल की तत्काल फीलिंग कराकर, इण्टर लॉकिंग टाईल्स से पैदल पथ निर्मित कराने के निर्देश दिये गये। निर्माणाधीन ट्रेक के आस-पास के क्षत्रे की साफ-सफाई जेसीबी मशीन से कराकर इसको भी समुचित रूप से विकसित करने हेतु निर्देशित किया गया।
मण्डलायुक्त के निरीक्षण के दौरान यूपीपीसीएल-यूनिट हेड के साथ ही अभियंता और खेल विभाग के अधिकारी मौजूद थे।