दहेज और घरेलू हिंसा सभ्य समाज के लिए अभिशाप है: डॉक्टर एस मोहसिन रजा

लीगल एड क्लीनिक, विधि संकाय, शिया पीजी कॉलेज ने किया जागरूकता शिविर का आयोजन 

लखनऊ। गुरुवार को लीगल एड क्लीनिक, विधि संकाय शिया पीजी कॉलेज लखनऊ की ओर से दो, अलग अलग ग्राम में एक दिवसीय (30 सितम्बर व 1 अक्टूबर, को निः शुल्क विधिक सेवा जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। जिसके क्रम में प्रथम विधिक जागरुकता शिविर के अंतर्गत ग्राम भरत पुर, विकास खंड बक्शी का तालाब में किया गया। शिविर का आज का विषय मुख्यतः पारिवारिक विवाद, दहेज व घरेलू हिंसा पर केन्द्रित रहा। इस कार्यक्रम में मेंबर लीगल एड क्लीनिक व विद्यार्थियों, विधि संकाय, शिया पीजी कॉलेज ने गांव के बहुत से लोगो को उनकी विभिन्न प्रकार की समस्याओं पर विचार कर उनके निदान की सलाह दी। कार्यक्रम का आगाज इंचार्ज, लीगल एड क्लीनिक विधि संकाय शिया पीजी कॉलेज डॉ एस मोहसिन रजा के द्वारा शिविर के आयोजन के उद्देश्य से हुआ उन्होंने अपने संबोधन में दहेज व घरेलू हिंसा को अभिशाप बताते हुए कहा सभ्य समाज में इसका कोई स्थान नहीं है। साथ ही इनसे सम्बंधित कानूनों की जानकारी भी दी। कार्यक्रम में ग्राम भरत पुर के प्रधान आशीष कुमार पाल, राजेश रावत पूर्व प्रधान बरगदी कलां, आलोक चौधरी, ग्राम पंचायत अधिकारी, बरगदी कलां, व भारी संख्या में ग्राम वासियों ने बढ़ चड़ कर विधिक जागरुकता शिविर में भाग लिया। प्रोग्राम में लीगल एड क्लीनिक के इंचार्ज डॉक्टर एस मोहसिन रजा, कन्वेनर डॉ वहीद आलम, वरिष्ठ सदस्य डॉ छत्र पाल व डॉ कमल जीत मणि मिश्रा शामिल रहे।