मशरूम उत्पादन तकनीकी पर पांच दिवसीय रोजगार प्रशिक्षण का शुभारंभ

संतोष कुमार श्रीवास्तव 

आजमगढ़ ।आजादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत आज दिनांक 09 सितंबर, 2021 को आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्यौगिक विश्वविद्यालय के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र, कोटवा, आज़मगढ़ में *आजादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत आज दिनांक 09 सितंबर, 2021 को आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्यौगिक विश्वविद्यालय के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र, कोटवा, आज़मगढ़ में *मशरूम उत्पादन तकनीकी* पर पांच दिवसीय रोजगार प्रशिक्षण का शुभारंभ किया गया। अतिथि वार्ताकार के रूप में श्री आरिफ खान, डीडीएम नाबार्ड, डाॅ विनीत प्रताप सिंह, सहा० प्रध्यापक (पादप रोग), कृषि महाविद्यालय कोटवा, सफल मशरूम उत्पादक विपिन बिहारी व आदित्य मौर्य आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता डॉ आर के सिंह प्रभारी केवीके ने किया तथा  प्रशिक्षण का संयोजन डाॅ रुद्र प्रताप सिंह ने किया। उद्यम स्थापना में नाबार्ड की भूमिका, किसान उत्पादक संगठन व मशरूम की विभिन्न किस्मों व उनकी उत्पादन तकनीकी, मूल्य संवर्धन, विपणन व्यवस्था आदि के बारे में दृश्य श्रव्य साधनों की सहायता से विस्तार से जानकारी दी गई। प्रशिक्षण में सफल मशरूम उद्यमी द्वारा ओएस्टर मशरूम से तैयार चूर्ण, पापड़, बिस्कुट, अंचार, मशरूम बड़ी आदि उत्पादों को दिखा कर प्रशिक्षण की रोचकता बढ़ाने का प्रयास किया गया। प्रशिक्षण में कुल 25 प्रशिक्षुओं ने प्रतिभाग किया। वेद प्रकाश सिंह व उपमन्यु सिंह ने भी मशरूम उत्पादन तकनीकी पर अपने अनुभव साझा किए।ओमप्रकाश यादव, श्रीमती मिथिलेश मौर्या, अमित त्रिपाठी, तूफानी यादव सहित कुल 25 प्रशिक्षुओं ने प्रतिभाग किया।किया गया। अतिथि वार्ताकार के रूप में श्री आरिफ खान, डीडीएम नाबार्ड, डाॅ विनीत प्रताप सिंह, सहा० प्रध्यापक (पादप रोग), कृषि महाविद्यालय कोटवा, सफल मशरूम उत्पादक विपिन बिहारी व आदित्य मौर्य आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता डॉ आर के सिंह प्रभारी केवीके ने किया तथा  प्रशिक्षण का संयोजन डाॅ रुद्र प्रताप सिंह ने किया। उद्यम स्थापना में नाबार्ड की भूमिका, किसान उत्पादक संगठन व मशरूम की विभिन्न किस्मों व उनकी उत्पादन तकनीकी, मूल्य संवर्धन, विपणन व्यवस्था आदि के बारे में दृश्य श्रव्य साधनों की सहायता से विस्तार से जानकारी दी गई। प्रशिक्षण में सफल मशरूम उद्यमी द्वारा ओएस्टर मशरूम से तैयार चूर्ण, पापड़, बिस्कुट, अंचार, मशरूम बड़ी आदि उत्पादों को दिखा कर प्रशिक्षण की रोचकता बढ़ाने का प्रयास किया गया। प्रशिक्षण में कुल 25 प्रशिक्षुओं ने प्रतिभाग किया। वेद प्रकाश सिंह व उपमन्यु सिंह ने भी मशरूम उत्पादन तकनीकी पर अपने अनुभव साझा किए।ओमप्रकाश यादव, श्रीमती मिथिलेश मौर्या, अमित त्रिपाठी, तूफानी यादव सहित कुल 25 प्रशिक्षुओं ने प्रतिभाग किया।