राजाजीपुरम के सेंट जोसेफ व सीएमएस में मेगा वैक्सीनेशन कैंप

लखनऊ। कोरोना महामारी को हराने के लिये उ0प्र0 सरकार के वृहद टीकारण अभियान के अर्न्तगत पूरे शहर सहित राजाजीपुरम् में भी कई स्थानों पर मेंगा वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया गया। राजाजीपुरम् के सी-ब्लाक स्थित सेंट जोसेफ स्कूल में प्रबन्ध निदेशक अनिल अग्रवाल के द्वारा तथा थाना तालकटोरा के सामने स्थित सिटी मॉटेसरी स्कूल में स्थानीय सभासद शिवपाल सांवरिया के दिशा निर्देशन में तथा एस0जी0 फाउन्डेशन के द्वारा मेगा वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में स्थानीय व आस-पास के लोगों ने अपनी सहभागिता दर्ज करायी व वैक्सीनेशन कराया। कोविड टीकाकरण दिवस के अवसर पर राजधानी में एक लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है। इसके लिये जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने अठारह से पैतालिस आयु वर्ग के लिये मेगा वैक्सीनेशन कैम्पों का आयोजन किया। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राजाजीपुरम् के सेंट जोसेफ और सीएमएस को पॉच-पॉच सौ वैक्सीन का स्लाट दिया गया था। भीड़ अधिक होने पर पचास वैक्सीन और उपलब्ध कराने को कहा था। सेंट जोसेफ समूह प्रबन्धन ने भी इस मेगा टीकाकरण कैम्प के लिये पूरे कोविड प्रोटोकॉल के साथ पुख्ता इंतजाम किये थे। पूरे कोविड प्रोटोकाल के साथ लोगों को वैक्सीन लगवायी गयी। स्वास्थ्य विभाग के पास इस मेगा वैक्सीनेशन कैंप के लिये स्टाफ की भारी कमी दिखायी दी। यदि स्कूल का स्टाफ साथ न देता तो किसी भी दशा में वैक्सीनेशन कैंप हो ही नहीं सकता था। सीएमएस कैंप में एस0जी0 फाउन्डेशन के कर्मचारियों व सभासद के कार्यकताओं ने टीकाकरण में पूरा सहयोग दिया। वही सेंट जोसेफ का पूरा स्टाफ टीकाकरण के कार्य में लगा रहा। विभाग ने केवल वैक्सीन लगाने वाले कर्मचारियों को ही भेजा। टोकन बांटनें से लेकर लाइन लगवाना व पंजीकरण कराना, उनका पूरा रिकार्ड आदि रखने का कार्य स्कूल के स्टाफ के द्वारा ही सम्पन्न कराया गया। मेगा वैक्सीनेशन कैंप के सफल आयोजन में थाना तालकटोरा की पुलिस की भूमिका भी सराहनीय रही। राजाजीपुरम् स्थित वैक्सीनेशन कैंप के अन्दर तो पूरे कोविड प्रोटोकॉल का पालन होता नजर आया परन्तु बाहर एकत्रित भीड़ किसी भी प्रकार के प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रही थी। दोपहर के पहले तक लम्बी लाइनों में कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ायी गयी।