पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, फटाफट करें चेक

नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल के दाम में आज भी इजाफा देखने को मिल रहा है। गुरुवार यानी आज पेट्रोलिय कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी कर दी हैं। नए रेट के मुताबिक दिल्ली में पेट्रोल 25 पैसा और डीजल 30 पैसा महंगा हुआ है। देश के कई शहरों में पेट्रोल-डीजल 100 के पार हैं। दिल्ली में पेट्रोल 101.64 रुपये और डीजल 89.87 रुपये प्रति लीटर है तो मुंबई में पेट्रोल 107.71 रुपये और डीजल 97.52 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। वहीं,  चेन्नई में पेट्रोल 99.36 रुपये और डीजल 94.45 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, जबकि  कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल के लिए 102.17 रुपये और डीजल के लिए आज 92.97 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।

ब्रेंट की कीमत इस साल के अंत तक 90 डॉलर प्रति बैरल तक जा सकती है। पिछले 6 दिनों में डीजल के रेट में आज पांचवीं बार बढ़ोतरी हुई है। वहीं ढाई महीने बाद मंगलवार को पेट्रोल की कीमत में भी बढ़ोतरी हुई। बता दें  सरकार ने संसद में कहा है कि पेट्रोल, डीजल और नेचुरल गैस के उत्पाद शुल्क से होने वाली कमाई साल 2013-14 में जहां 53,090 करोड़ थी, वहीं अप्रैल 2020-21 में बढ़कर 2,95,201 करोड़ रुपये हो गई है. सरकार ने बताया है कि कुल रेवेन्यू 2013-14 में जहां 12,35,870 करोड़ था, वह अब बढ़कर 24,23,020 करोड़ हो गया है।

इस बढ़ोतरी ने पेट्रोल की खुदरा कीमत को रिकॉर्ड स्तर के करीब पहुंचा दिया। इससे पहले पेट्रोल जुलाई में दिल्ली में 101.84 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 107.83 रुपये प्रति लीटर की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया था। डीजल के मामले में इस वृद्धि ने उसे जुलाई में दिल्ली में 89.87 रुपये प्रति लीटर के उच्चतम स्तर के बराबर पहुंचा दिया।

वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट के 78.64 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचने के साथ अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतें तीन साल के उच्च स्तर पर हैं।  वैश्विक कीमतों में उछाल की वजह से सरकार के स्वामित्व वाली इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (बीपीसीएल) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (एचपीसीएल) ने 24 सितंबर को दैनिक मूल्य बदलाव फिर से शुरू कर दिया जिसके साथ ही पांच सितंबर से मूल्य वृद्धि पर लगी रोक समाप्त हो गयी।

 24 सितंबर के बाद से डीजल की कीमतें पांचवीं बार बढ़ायी गयी हैं। तब से कुल मिलाकर, डीजल की कीमतों में 1.25 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है, जबकि 18 जुलाई से पांच सितंबर के बीच कीमतों में इतने ही की यानी कुल 1.25 रुपये प्रति लीटर की कमी हुई थी। पेट्रोल की कीमत में इस हफ्ते दो किश्तों में कुल 50 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है।  इससे पहले डीजल की कीमत में आखिरी बार 15 जुलाई और पेट्रोल की कीमत में आखिरी बार 17 जुलाई को वृद्धि की गयी थी। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें लगभग तीन साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गयी हैं क्योंकि दुनिया भर में उत्पादन के बाधित होने से ऊर्जा कंपनियां अपने भंडार से अधिक कच्चा तेल निकालने के लिए मजबूर हुई हैं।

दरअसल विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज़ाना पेट्रोल और डीजल के रेट तय करती हैं। इंडियन ऑयल , भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम रोज़ाना सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं।