ग्रामीण क्षेत्रों की स्वास्थ्य सेवाएं वेंटिलेटर पर,सरकारी दावे हवा-हवाई

हलधरमऊ /गोंडा । तहसील क्षेत्र कर्नलगंज के पहाड़ापुर निवासी हिन्दू युवा वाहिनी के ब्लॉक मन्त्री अजय कुमार श्रीवास्तव ने आइजीआरएस पोर्टल के माध्यम से अधिकारियों से ऑनलाइन शिकायत की है जिसमें कहा है कि ब्लाक हलधरमऊ के अन्तर्गत पहाड़ापुर में बना प्राथमिक स्वास्थ्य उपकेंद्र स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से केवल शोपीस बना है और यहां किसी भी प्रकार की कोई सरकारी स्वास्थ्य सुविधा मौजूद नहीं है।इसमें आज तक किसी भी डाक्टर की तैनाती नहीं हुई है।शिकायत में कहा गया है पहाड़ा पुर की वर्तमान समय में करीब 4500 के आसपास है। पहाड़ापुर कई ग्राम पंचायतों जैसे डुड़ही,असरना, उमरिया जैसे गावों का मुख्य बिंदु (चौराहा) है। इन सबके बावजूद इस उपकेन्द्र पर कोई भी सरकारी सुविधा मौजूद नहीं है जिससे यहां के लोगों को डॉक्टर को दिखाने के लिए करीब 8 किलोमीटर दूर हलधरमऊ सीएचसी जाना पड़ता है यही नहीं गर्भवती महिलाओं को भी चिकित्सकीय सहायता की जरूरत पड़ने पर इतनी दूर जाने पर मजबूर होना पड़ता है। जबकि सरकार ने गांव में प्राथमिक उपकेन्द्र की स्थापना इसलिए कराई थी कि स्थानीय ग्रामीणों को प्राथमिक उपचार की सुविधा सुगमतापूर्वक उपलब्ध हो सके।लेकिन सरकारी सिस्टम की लाचारी व बदहाली से इस उपकेंद्र की सारी व्यवस्था चरमरा गई है और यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था खुद वेंटिलेटर पर है। हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारी की इस शिकायत से जहां योगी सरकार व उनके अधीनस्थ आला अधिकारियों के दावों की पोल खुल रही है वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में ध्वस्त चिकित्सा सेवाओं की हकीकत सामने आ रही है।