शिक्षक

शिक्षक वह धन देता है 

जो चुराया नहीं जा सकता 

धन ऐसा जो बांटने पर भी 

कम नहीं किया जा सकता 

बिना शिक्षक के ज्ञान के

 अआ भी नहीं आता

 शिक्षक ही सर्वोपरि है

शिक्षा का भाग्य विधाता 

व्यक्ति का उत्थान 

शिक्षक से ही होता 

ज्ञान का दीपक हैजो 

शिक्षक सत्य मार्ग दिखलाता 

मनका प्रकाश है शिक्षक

 अंतस में उजियारा करता 

शिक्षक की कृपा से ही 

शब्द ज्ञान का बोध हैहोता 

पूजनीय वंदनीय है शिक्षक

 शिक्षक से परिपूर्ण 

आदरणीयहै शिक्षक 

 शिक्षक ही संपूर्ण

 

गरिमा राकेश गौतम

कोटा राजस्थान