दो महीने बाद जेल से रिहा हुए राज कुंद्रा, बाहर निकलते ही भीड़ के बीच बुरी तरह फंसे

पॉर्न फिल्ममेकिंग रैकेट में पिछले दो महीने से जेल में कैद मुख्य आरोपी राज कुंद्रा आज मंगलवार को जेल से रिहा हो चुके हैं। जेल से निकलने के बाद वह भीड़ के बीच में फंसे नजर आ रहे हैं, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर छाया है। बता दें कि मुंबई के मैजिस्ट्रेट की एक अदालत ने सोमवार को उन्हें जमानत दे दी। सोमवार को मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उन्हें 50 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दे दी थी। अब 64 दिन जेल में काटने के बाद राज की जिंदगी में हल्की रोशनी आई है। राज कुंद्रा पर अश्लील कंटेंट बनाने और उन्हें ऐप्स पर अपलोड करने का आरोप है।  इस मामले में राज के अलावा दूसरे आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया था। 19 जुलाई को लंबी पूछताछ के बाद राज को अरेस्ट कर लिया गया था। पोर्नोग्राफी केस में मुंबई क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने कुछ समय पहली ही सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की थी। चार्जशीट करीब 1467 पन्ने की है, जिसमें 43 गवाहों के बयान हैं। बता दें कि कुंद्रा ने अदालत के समक्ष जमानत याचिका दाखिल करते हुए दावा किया था कि मामले में मुंबई पुलिस की अपराध शाखा द्वारा दायर पूरक आरोप पत्र में उनके खिलाफ कोई भी सबूत नहीं है। राज कुंद्रा ने 18 सितंबर को कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी। उन्होंने अपने वकील प्रशांत पाटिल के जरिए जमानत अर्जी दाखिल की थी, जिसपर सोमवार को सुनवाई हुई और उनकी जमानत को मंजूरी दे दी गई। इस याचिका में उन्होंने कहा था कि उन्हें बलि का बकरा बनाया जा रहा है। दायर याचिका में राज ने कहा था कि केस में दाखिल पूरक आरोप पत्र में कोई सबूत नहीं है जो कथित आपत्तिजनक फिल्म बनाने में सीधे तौर पर उनकी संलिप्तता को साबित करे।