राशन कार्ड धारको को कम गल्ला दिया तो निरस्त होगा कोटा, दर्ज होगी एफआईआर-डीएम

गोंडा । सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत पात्रों को दिए जाने वाले राशन में गड़बड़ी करने वाले भ्रष्ट कोटेदारों पर अब कार्यवाही की तलवार लटक गई है, वहीं गोदामों से कोटदारों को कम गल्ला देने वाले गोदाम प्रभारी भी डीएम के राडार पर आ चुके हैं।। डीएम मार्कण्डेय शाही ने पारदर्शी व्यवस्था बनाते हुए राशन वितरण व उठान से सम्बन्धित शिकायतों के लिए तहसीलवार व्हाट्सएप नम्बर जारी कर दिए हैं। डीएम ने स्पष्ट चेतावनी दी है कि अब कोटे से सम्बन्धित गोदाम प्रभारी, अथवा कोटेदार के विरूद्ध शिकायत सही पाए जाने पर कोटे निरस्त करने के साथ ही एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी।जिलाधिकारी श्री शाही ने बताया कि तहसील दिवस जनता दर्शन आईजीआरएस व अन्य माध्यमों से इस आशय की लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही है कि उचित दर विक्रताओं द्वारा कार्डधारकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत अनुमन्य निर्धारित मात्रा कम खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है एवं उसका मूल्य अधिक लिया जा रहा है, साथ ही साथ आदर्श कोटेदार एवं उपभोक्ता बेलफेयर एसोसिएशन, उ0प्र0 गोण्डा द्वारा इस आशय का ज्ञापन प्रस्तुत किया गया है कि ब्लॉक गोदाम से खाद्यान्न निकासी के समय विपणन निरीक्षक द्वारा बिना तौल के उचित दर विक्रेताओं को निर्धारित मात्रा से कम खाद्यान्न दिया जा रहा है, जिसके वजह से उचित दर विक्रेताओं को खाद्यान्न वितरण के दौरान कार्डधारकों के समक्ष असहज होना पड़ रहा है, जिसकी वजह से मारपीट की भी स्थिति उत्पन्न हो जा रही है।