कजरी तीज मेले को लेकर प्रशासन सतर्क

 कर्नलगंज /गोण्डा। जनपद गोंडा ही नहीं बल्कि देवीपाटन मण्डल का सबसे बड़ा व ऐतिहासिक पर्व कजरी तीज जिसमें लाखों कांवरिए सरयू से जल भरकर जिले के शिव मन्दिरों में जलाभिषेक करते थे जो विगत दो वर्षों से कोरोना महामारी का भेंट चढ़ रहा है। कोविड महामारी को देखते हुये गुरुवार को पड़ने वाले इस ऐतिहासिक पर्व पर कर्नलगंज के कटराघाट स्थित सरयू नदी से जल भरने पर प्रशासन द्वारा रोक लगा दिया गया था। इस वर्ष कांवरियों को जलाभिषेक न करने और पूजा-पाठ घर में ही करके रहने को कहा गया है।शिवालयों के पुजारियों व धर्म गुरुओं द्वारा अपील की गई है कि इस वर्ष शिवभक्त कांवरिए अपने अपने घरों में ही शिव उपासना कर पूजन अर्चन करें। कजरी तीज पर्व पर कांवरियों को रोकने के लिये की गई बैरिकेटिंग व कानून व्यवस्था का जायजा लेने मंगलवार को अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज कर्नलगंज कटराघाट पहुँचे। उन्होंने सरयू नदी के कटरा घाट का निरीक्षण किया जिसमें नदी की ओर जाने वाले मार्ग पर थोड़ी थोड़ी दूरी पर सड़क के किनारे कराई जा रही बैरिकेडिंग व अन्य व्यवस्थाओं को देखा तथा मातहतों को जरूरी निर्देश दिये।  कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराने के साथ ही साथ राहगीरों को किसी प्रकार की समस्या ना हो इसके लिये उन्होंने मातहतों को निर्देशित किया कि मार्ग पर आवागमन सुचारू रूप से जारी रहेगा लेकिन वाहनों को पुल के आसपास रुकने की इजाजत नहीं होगी । इस दौरान उन्होंने लोगों से सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों  का पालन करते हुए पर्व मनाने की अपील की है।