दो घंटे की न्यायिक हिरासत के बाद पूर्व विधायक जमीरउल्लाह रिहा

अलीगढ़। पूर्व विधायक जमीरउल्लाह को दो घन्टे की न्यायिक हिरासत के बाद जमानत मंजूर होने पर रिहा किया। पूर्व विधायक चुनाव आचार सिंहंता के उल्लंघन में बुधवार को एडीजे-पांच की कोर्ट में हाजिर हुए। पूर्व विधायक ने कोर्ट में सरेंडर किया। साथ ही जमानत के लिए याचिका दायर की। जमीरउल्लाह करीब दो घंटे न्यायिक हिरासत में रहे, जिसके बाद कोर्ट ने जमानत मंजूर कर ली।

   जिले के आठ जनप्रतिनिधियों के खिलाफ अलग-अलग मामलों में लंबे समय से मुकदमे चल रहे हैं। इनकी सुनवाई के लिए प्रयागराज में विशेष न्यायालय बनाई गई थी। लेकिन, सितंबर 2019 में सभी मुकदमों को जिले की कोर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया था। फिलहाल एडीजे चार तीन की कोर्ट में सुनवाई हो रही है। अपर शासकीय अधिवक्ता रामकुमार ने बताया कि पूर्व विधायक जमीरउल्लाह पर आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप है। इनके खिलाफ वर्ष 2006 में कोतवाली नगर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था।

 इनके साथ आठ अन्य लोग भी नामजद थे। कोर्ट ने एसएसपी को पत्र लिखकर कहा था कि गैर जमानती वारंट व धारा 82 के आदेश जारी होने के बावजूद थानाध्यक्ष की ओर से आरोपित को कोर्ट में पेश नहीं किया जा रहा है। ऐसे में जमीरउल्लाह के खिलाफ वारंट तामील कराकर तीन सितंबर तक उन्हें कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए थे। वहीं बुधवार को पूर्व विधायजमीरउल्लाह कोर्ट में हाजिर हुए। अपर शासकीय अधिवक्ता रामकुमार ने बताया कि जमीरउल्लाह दो घंटे हिरासत में रहे। उन्होंने जमानत के लिए याचिका दायर की थी, जो कोर्ट में मंजूर हो गई।