मेडिकल ऑफिसर्स बेसिक कोर्स के समापन पर ऑफिसर्स सेरेमोनियल परेड आयोजित

लखनऊ। मेडिकल ऑफिसर्स बेसिक कोर्स-235 के सफल समापन पर 06 सितंबर को ऑफिसर्स ट्रेनिंग कॉलेज, आर्मी मेडिकल कोर सेंटर एवंकॉलेज, लखनऊ में एक से रेमोनियल परेड आयोजित की गई। यह आयोजन कोविड -19 प्रोटोकॉल के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए आयोजित किया गया था। नौ सप्ताह का फाउंडेशन कोर्स युवा सशस्त्र बलों के चिकित्सा और दंत चिकित्सा अधिकारियों को गहन युद्ध चिकित्सा सहायता प्रशिक्षण प्रदान करता है ताकि उन्हें शांति और परिचालन क्षेत्रों में अपने कर्तव्यों का प्रभावी ढंग से निर्वहन करने के लिए सशक्त बनाया जा सके। इस सैन्य प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के बाद अब युवा डॉक्टरों को चिकित्सा और दंत चिकित्सा अधिकारियों के रुप में सभी इकाइयों में तैनात किया जाएगा। सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (एएफएमएस) के 124 नए कमीशन वाले डॉक्टर और अधिकारी, सेना से 88, वायुसेना के 18 अधिकारी और नौ सेना के 18 अधिकारी शामिल हैं। इसमें 25 महिला अधिकारी शामिल हैं। इससे रेमोनियल परेड की समीक्षा लेफ्टिनेंट जनरल संदीप मुखर्जी, कमांडेंट, एएमसी सेंटर एवं कॉलेज और ऑफिसर इन चार्ज रिकॉर्ड्स तथा आर्मी मेडिकल कोर के कर्नल कमांडेंट द्वारा की गई। युवा अधिकारियों को संबोधित करते हुए, लेफ्टिनेंट जनरल संदीप मुखर्जी ने उन्हें पेशेवर क्षमता के उच्चतमक्रम को बनाएरखते हुए सेना चिकित्सा कोर की परंपरा को बनाए र खने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि यह पाठ्यक्रम कोविड काल के दौरान आयोजित किया गया था और अधिकांश पाठ्यक्रम अधिकारियों ने इस दौरान कोविड योद्धाओं के रूप में विभिन्न कोविड अस्पतालों और सैन्य संस्थानों में अपनी सेवाएं दीं थी। उन्होंने कहा कि परिणाम स्वरूप उन्हें कोविड प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं में प्रशिक्षित किया गया है और यह अनुभव अधिकारियों को राष्ट्र की सेवा करने में मददगार रहेगा। उन्होंने अधिकारियों को ऑफिसर्स ट्रेनिंग कॉलेज में दिए गए ज्ञान को लगातार अपग्रेड करने और आगे बढ़ाने की भी सलाह दी। सशस्त्र बलों द्वारा प्रदान किए गए अवसरों पर जोर देते हुए, उन्होंने अधिकारियों को अपनी पेशेवर आकांक्षाओं को आगे बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित किया। लेफ्टिनेंट जनरल संदीप मुखर्जी ने इस तथ्य पर जोर दिया कि सशस्त्र बल चिकित्सा सेवाए क्षेत्र और शांति में हमारे सैनिकों की गुणवत्ता पूर्ण रोगी देखभाल के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने सभी अधिकारियों को उत्कृष्ट टर्न आउट और परेड के संचालन के लिए बधाई दी कैप्टन निशात को पाठ्यक्रम का सर्वश्रेष्ठ ओवर ऑल अधिकारी चुना गया और कमांडेंट की रोलिंग ट्रॉफी प्रदान किया गया जबकि फील्ड इवेंट् समें सर्वश्रेष्ठ अधिकारी होने के लिए सर्जन लेफ्टिनेंट अश्विनी पीनायर कोमेजर लैशराम ज्योतिन सिंह, अशोक चक्र मेमोरियल ट्रॉफी से सम्मानित किया गया।