पूर्व प्रधान का दिनदहाड़े अपहरण से क्षेत्र की जनता में दिखा आक्रोश

 मऊ जनपद के मधुबन थाना क्षेत्र अंतर्गत माधोपुर गांव के नहर के पास बेखौफ अपहरणकर्ताओं ने पूर्व प्रधान का दिनदहाड़े अपहरण कर लिया। सूचना के बाद हरकत में आई पुलिस ने नाकाबंदी करते हुए कुछ ही घंटों में चिरैयाकोट गाजीपुर बॉर्डर पर अपहरणकर्ताओं को धर दबोचा।

मऊ जनपद में अपराधियों पर नकेल कसने के सरकार के दावे को चुनौती देते हुए मऊ के मधुबन क्षेत्र में बदमाशों ने ग्राम माधोपुर के पूर्व प्रधान का दिनदहाड़े अपहरण करके इलाके में सनसनी फैला दी। हालांकि पुलिस ने तत्परता और नाकाबंदी से कुछ ही घंटों में अपहरणकर्ताओं को चिरैयाकोट गाजीपुर बॉर्डर से धर दबोचा और पूर्व प्रधान को सुरक्षित छुड़ा लिया।

घटना के बारे में प्रधान के पुत्र ने बताया कि उसके पिता घर से लगभग 4:30 बजे निकले और नहर पर पहुंचे ही थे की बोलेरो से आए अपहरणकर्ताओं ने उन्हें उठा लिया ।नहर के पास उनकी मोबाइल ,चप्पल ,हेलमेट और गाड़ी गिरी हुई मिली । पुलिस अपना काम कर रही है ।

इस संदर्भ में मऊ के पुलिस अधीक्षक सुशील घुले ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि मधुबन से 100 नंबर पर सूचना आई थी जिसमें यह बताया गया कि किसी बोलेरो गाड़ी से एक गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया है। यह प्रथम सूचना थी। सूचना पाने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को आसपास खेतों में काम कर रहे लोगों ने बताया कि एक व्यक्ति को कुछ लोग बोलेरो गाड़ी में बैठा कर ले गए हैं । पुलिस ने इस बात को गंभीरता से लिया तथा तुरंत सभी जगहों पर चेकिंग लगवाई गई । इस काम में पूरे फोर्स को लगा दिया गया और पता चला कि चिरैयाकोट और गाजीपुर के बॉर्डर पर जिस व्यक्ति का अपहरण होने की बात हो रही थी वह मिल गया है।

 उससे पूछताछ चल रही है। पूछताछ और छानबीन के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा की क्या स्थिति रही थी। क्या वह अपहरणकर्ताओं को पहले से जानते थे अथवा नहीं ? और किन स्थितियों में वह उनको लेकर गए थे ?पुलिस छानबीन कर रही है जल्द ही इस प्रकरण का खुलासा हो जाएगा।