सेवायोजक अपने वाणिज्य प्रतिष्ठानों का पंजीयन ज़रूर करायेंः अध्यक्ष, उप्र श्रम कल्याण परिषद


केन्द्र व राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाएं

- सांसद 8 श्रमिकों को मिला हितलाभ
सहारनपुर। उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुनील भराला ने सेवायोजक संगठनों से अपील की कि अपने-अपने प्रतिष्ठान का पात्रता के आधार पर उत्तर प्रदेश दुकान एवं वाणिज्य अधिष्ठान अधिनियम, 1962 एवं कारखाना अधिनियम, 1948 के अन्तर्गत पंजीयन ऑनलाइन कराये। ऑनलाइन पंजीयन कराने से उनके यहां कार्यरत श्रमिकों को उक्त योजनाओं का हितलाभ प्राप्त हो सके। उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाआंें 08 श्रमिकों को हितलाभ वितरण भी किया।
उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुनील भरला आज यहां आईटीसी कम्पनी सभागार कक्ष में आयोजित उ0प्र0 श्रम कल्याण परिषद की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार एवं योजनाओं में हितलाभ वितरण कार्यक्रम के सम्बोधन में यह बात कही। उन्होंने कहा कि अधिकारी श्रमिको के लिए संचालित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक श्रमिकों को दिलाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा सरकार ने श्रमिकों के हितों को ध्यान में रखते हुए कई योजनाओं में हितलाभ की धनाशि की बढोत्तरी भी की है। उन्होंने कहा कि ऐसे में अधिक से अधिक श्रमिकों को जोड़ने की जरूरत है। उन्होंने आज विश्वकर्ता जयन्ती के पावन पर्व पर जनपद के सभी श्रमिकों को बधाई भी दी।
सांसद प्रदीप चौधरी ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश और केन्द्र सरकार द्वारा श्रमिकों के हितार्थ कई योजनाएं चलाई जा रही है। उन्हांेने कहा कि योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है। जिससे योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को मिल सकें। उन्होंने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से अधिक से अधिक श्रमिकों को जोड़ने की पारदर्शी व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि सभी का प्रयास होना चाहिए कि योजनाओं का लाभ पात्र श्रमिकों को मिल सकें। कार्यक्रम में उप श्रमायुक्त, शक्ति सेन मौर्य के द्वारा उ0प्र0 श्रम कल्याण परिषद द्वारा संगठित कर्मकारों के हितार्थ संचालित कल्याणकारी योजनाओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। उन्हांेने बताया कि सरकार के द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए -ज्योतिबा फुले कन्यादान योजना, डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक शिक्षा सहायता योजना, गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार राशि योजना, राजा हरिश्चन्द्र मृतक आश्रित सहायता योजना, दत्तोपंत ठेंगडी मृतक अन्त्येष्टि सहायता योजना, चेतन चौहान क्रीडा प्रोत्सहन योजना, महादेवी वर्मा पुस्तक क्रय धन योजना एवं स्वामी विवेकानन्द धार्मिक एवं पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन की प्रक्रिया एवं पात्रता तथा हितलाभ धनराशि के बारे में विस्तार से उपस्थित श्रमिकों, श्रमिक सगठनों एवं सेवायोजक संगठनों को अवगत कराया गया। इस अवसर पर सुरेन्द्र शर्मा, अध्यक्ष व्यापार मण्डल, शीतल टण्डन, अध्यक्ष एसआईए, शिवकुमार गौड, अध्यक्ष सीआईएस, रविन्द्र मिगलानी, अध्यक्ष, लघु उद्योग भारती, अनुपम गुप्ता, ने भी अपने-अपने विचारों से अवगत कराया गया।
कार्यक्रम में श्रम विभाग से सहायक श्रमायुक्त, अभिषेक सिंह, श्रम प्रवर्तन अधिकारीगण सर्वश्री महीप सिंह, केपी सिंह, एसएस त्रिपाठी, उपेन्द्र अवस्थी, प्रीति सोम, श्रम विभाग के कर्मचारीगण तथा श्रम कल्याण परिषद के सदस्य अशोक चौधरी एवं राजकुमार राजू, मोहन माहेश्वरी, केएल आरोडा, डीके बंसल, मदन अरोड़ा, राजीव सैनी, विनय सैनी, गीताराम सैनी श्रम प्रकोष्ठ भाजपा, प्रदीप भारती, आईटीसी से विनीत आचार्य, वैल्फेयर आफिसर, इण्डियन हर्ब्स से अशोक धीमान, केके शर्मा, राजीव अग्रवाल, राजकुमार शर्मा आदि के साथ 80 व्यक्ति उपस्थित रहे।