दिल्ली में सड़कें लबालब, घरों में घुसा पानी

दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बुधवार की सुबह भारी बारिश हुई. इसकी वजह से कई इलाकों में जलभराव देखने को मिला. जलभराव की वजह से दिल्ली और इससे सटे नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम समेत कई हिस्सों में ट्रैफिक जाम रहा और लोगों को परेशानियां उठानी पड़ी.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि शहर में पिछले 24 घंटों में 112.1 मिमी बारिश हुई, जो 19 वर्षों में सबसे अधिक है. दिल्ली में कम से कम 12 वर्षों में सितंबर में एक दिन में सबसे अधिक बारिश का भी रिकॉर्ड बना है. इससे पहले 13 सितंबर, 2002 को राजधानी में 126.8 मिमी बारिश दर्ज की गई थी.  16 सितंबर, 1963 को अब तक का बड़ा रिकॉर्ड 172.6 मिमी बारिश का है.

मौसम विभाग ने शनिवार तक दिल्ली-एनसीआर में मध्यम से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है और आज के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. अधिकारी नियमित रूप से अपडेट जारी कर रहे हैं और यात्रियों को उन मार्गों के बारे में चेतावनी दे रहे हैं जहां जलभराव और ट्रैफिक जाम है.

दिल्ली में जलमग्न सड़कों और ट्रैफिक जाम के बीच कई वीडियो और तस्वीरें ऑनलाइन साझा की गई हैं जिसमें सड़कों पर वाहनों की लंबी कतारें दिख रही हैं. एक वीडियो में जलभराव वाले द्वारका अंडरपास को पार करने के लिए संघर्ष करते कई वाहन दिखाई दिख रहे हैं. दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के मुनिरका में भी भारी जलजमाव की सूचना मिली. इस वजह से वहां बाजार बंद रहे.

शहर के सबसे महंगे इलाकों में से एक सैनिक फार्म में एक बंगला नाले के पानी से भर गया. स्थानीय लोगों का आरोप है कि नगर निकाय ने लंबे समय से नालों की सफाई नहीं की. इसकी वजह से सारा पानी उस बंगले में जमा हो गया. वहां के वीडियो में लोगों को बंगले से घरेलू सामान निकालने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है.

हर साल जलभराव के लिए बदनाम मिंटो ब्रिज पर वाहनों की लंबी कतार देखी गई. एक एडवायजरी में दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने कहा कि जलभराव के कारण दोनों मार्गों को बंद कर दिया गया है और ट्रैफिक डायवर्ट किया जा रहा है. यातायात पुलिस और लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) अधिकारियों के अनुसार, मिंटो ब्रिज, जनपथ रोड, लाजपत नगर मेट्रो स्टेशन के पास के इलाकों, मुनीरका, लाला लाजपत राय मार्ग, मूलचंद बस स्टैंड, एम्स फ्लाईओवर के समीप अरबिंदो मार्ग, जंगपुरा मेट्रो स्टेशन के आसपास के इलाकों, मूलचंद के समीप रिंग रोड और रोहतक रोड पर जलभराव है.

उन्होंने बताया कि भारी जलभराव के कारण कई मुख्य सड़कों पर यातायात जाम देखा गया. इनमें रोहतक रोड, विकास मार्ग, धौला कुआं, एम्स के समीप रिंग रोड और मूलचंद, आश्रम, मथुरा रोड और सराय काले खां शामिल हैं. पड़ोसी शहर गुड़गांव में भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला, जहां पिछले 24 घंटों में 64.2 मिमी बारिश हुई. समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा साझा की गई कुछ फोटो में वाहनों को जलभराव वाली सड़कों से गुजरते और ट्रैफिक जाम में लंबी कतारों में जूझते हुए देखा गया.

बुधवार की सुबह दिल्ली में 8.30 बजे तक 75.6 मिमी बारिश दर्ज की गई थी. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में हर साल सितंबर में औसतन 125.1 मिमी बारिश होती है. इसका मतलब है कि दिल्ली में इस महीने के पहले दिन ही, पूरे महीने की 90 फीसदी बारिश हो गई.