अब जीएसटी कलेक्शन के मोर्चे पर आई अच्छी खबर, कलेक्शन में 30 फीसदी का इजाफा

नई दिल्ली : जीडीपी आंकड़ों में सुधार के बाद अब गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी जीएसटी कलेक्शन के मोर्चे पर अच्छी खबर आई है। दरअसल, जीएसटी रेवेन्यु कलेक्शन एक बार फिर 1 लाख करोड़ रुपए के स्तर को पार कर लिया है। अगस्त महीने में ग्रॉस जीएसटी रेवेन्यु 1,12,020 करोड़ रुपए रहा। एक साल पहले की इसी अवधि से तुलना करें तो जीएसटी राजस्व में 30 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, जुलाई 2021 के मुकाबले अगस्त में जीएसटी कलेक्शन कम हुआ है। 

जुलाई में कितना था कलेक्शन: जुलाई, 2021 में 1,16,393 करोड़ रुपए का ग्रॉस जीएसटी रेवेन्यु कलेक्शन था। इसमें सीजीएसटी 22,197 करोड़ रुपए, एसजीएसटी 28,541 करोड़ रुपए, आईजीएसटी 57,864 करोड़ रुपए और उपकर (सेस) 7,790 करोड़ रुपए शामिल हैं। 

आपको बता दें कि जीएसटी संग्रह लगातार आठ महीने तक 1 लाख करोड़ से अधिक रहने के बाद जून 2021 में घटकर 1 लाख करोड़ रुपए के स्‍तर से नीचे आ गया था। जून 2021 महीने के दौरान संग्रह काफी हद तक मई 2021 से संबंधित था। मई 2021 के दौरान अधिकतर राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश कोविड की दूसरी लहर के कारण पूर्ण अथवा आंशिक लॉकडाउन से जूझ रहे थे। 

इस साल अब तक ऐसा रहा GST कलेक्शन

महीना

जीएसटी संग्रह करोड़ रुपये में

अगस्त 2021 1,12,020

जुलाई 2021 1,16,293

जून 2021          92,849

मई 2021        1,02,709

अप्रैल 2021 1,41,384

मार्च 2021         1,23,000

फरवरी 2021 1,13,000

जनवरी 2021 1,20,000

कोविड संबंधी पाबंदियों में ढील के साथ ही जुलाई और अगस्त 2021 के लिए जीएसटी संग्रह फिर से 1 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है। इससे स्पष्ट संकेत मिलता है कि अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार हो रहा है। आने वाले महीनों में भी जीएसटी राजस्व संग्रह दमदार बने रहने की संभावना है।

जीडीपी के मोर्चे पर भी अच्छी खबर: कोरोना वायरस की खतरनाक दूसरी लहर के बावजूद देश की अर्थव्यवस्था में चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 20.1 प्रतिशत की रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज की गई। इसका कारण पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही का तुलनात्मक आधार नीचे होना है। इसके अलावा मैन्युफैक्चरिंग और सर्विसेज सेक्टर का बेहतर प्रदर्शन भी जीडीपी ग्रोथ का कारण है।