IND vs ENG: इंग्लिश कप्तान जो रूट ने मानी अपनी गलती

भारत ने लार्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 151 रन से हराकर इतिहास रच दिया और पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। इस मैच में हार झेलने के बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने स्वीकार किया कि भारत के खिलाफ दूसरे टेस्ट में उनसे रणनीतिक गलती हुई और उन्होंने भारत के लॉअर ऑर्डर बल्लेबाजों को हल्के में लिया। लॉर्ड्स टेस्ट के पांचवें दिन इंग्लैंड ने मैच पर पकड़ बना ली थी, लेकिन मोहम्मद शमी (नाबाद 56) और जसप्रीत बुमराह (नाबाद 34) ने नौवें विकेट के लिए 89 रन की पार्टनरशिप करके भारत को मैच में लौटाया।

इंग्लैंड की टीम दो सेशन के भीतर 120 रन पर ऑलआउट हो गई और यह मैच 151 से हार गई। रूट ने वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'बतौर कप्तान मेरी जिम्मेदारी सबसे ज्यादा है। रणनीति के मामले में कहीं चूक हो गई। शमी और बुमराह की पार्टनरशिप खेल का अहम पल था और हमने उसे हल्के में लेने की गलती की।' उन्होंने कहा, 'यह निराशाजनक था कि हम उस तरह से पारी का अंत नहीं कर सके जैसा कि कर सकते थे।' रूट ने स्वीकार किया कि शमी और बुमराह के खिलाफ शॉर्ट गेंद की रणनीति नाकाम रही।

उन्होंने कहा कि, 'हम स्टम्प्स पर ज्यादा गेंद डाल सकते थे। शॉर्ट गेंद डालने की रणनीति कामयाब नहीं रही। वैसे उन दोनों बल्लेबाजों को क्रेडिट जाता है, जिन्होंने बेहतरीन खेलकर रन बनाए। दोनों टीमों के बीच तनाव देखा गया, लेकिन रूट ने कहा, 'विराट का स्टाइल अलग है और मेरा स्टाइल अलग है। मुझे नहीं लगता कि मैदान पर कोई कड़वाहट थी।' दोनों टीमों के बीच सीरीज का तीसरा मुकाबला हेडिंग्ली में 25 अगस्त से खेला जाएगा।