IND vs ENG: 7वीं बार पांच विकेट चटकाने पर जेम्स एंडरसन ने लॉर्ड्स के मैदान को बताया खास

अपने टेस्ट करियर में 7वीं बार लॉर्ड्स में पांच विकेट लेने वाले जेम्स एंडरसन ने इस मैदान को खुद के लिए खास बताया है। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ने कहा कि उनका बेस्ट प्रदर्शन लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर निकलकर आता है। एंडरसन की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर इंग्लैंड ने भारत की पहली पारी को 364 रनों पर समेटा। इंग्लिश टीम ने भारत के आखिरी सात विकेट महज 88 रन देकर चटकाए। एंडरसन ने रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे जैसे दमदार बल्लेबाजों का विकेट अपने नाम किया। 

लॉर्ड्स पर 18 साल पहले जिंबाब्वे के खिलाफ पांच विकेट के साथ टेस्ट डेब्यू करने वाले एंडरसन ने करियर में 31वीं बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट हासिल किए। अपना 164वां टेस्ट खेल रहे एंडरसन ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'लॉर्ड्स को लेकर कुछ विशेष है, निश्चित तौर पर मेरे लिए ऐसा है। मुझे यहां खेलना पसंद है। ऐसा लगता है कि यहां मैं अपना बेस्ट प्रदर्शन करता हूं।' टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड को आसमान में बादल छाए होने के बावजूद पहले विकेट के लिए 44वें ओवर तक इंतजार करना पड़ा। पहले दिन एंडरसन ने रोहित शर्मा (83) को आउट करके इंग्लैंड को पहली सफलता दिलाई और फिर चेतेश्वर पुजारा (9) को भी पवेलियन भेजा।

दूसरे दिन एंडरसन ने अजिंक्य रहाणे (1), ईशांत शर्मा (8) और जसप्रीत बुमराह (0) की पारियों का अंत किया जिससे पहले दिन के खेल के बाद तीन विकेट पर 276 रन बनाने वाली भारतीय टीम 364 रन पर ऑलआउट हो गई। एंडरसन ने लॉर्ड्स पर भारत के खिलाफ चौथी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए। वह 1951 से लॉर्ड्स पर पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाने वाले सबसे अधिक उम्र के तेज गेंदबाज हैं।

एंडरसन 39 साल के हो गए हैं लेकिन इस अनुभवी तेज गेंदबाज ने उम्मीद जताई कि उन्हें अपने 'पसंदीदा मैदान पर दोबारा खेलने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा, 'पिछले कुछ मौकों पर मैं जब भी यहां खेला तो आप लोगों ने सोचा होगा कि क्या मैं आखिरी बार यहां खेल रहा हूं? उम्मीद करता हूं कि यहां मैं आखिरी बार नहीं खेला या यहां के ऑनर्स बोर्ड पर आखिरी बार अपना नाम नहीं लिखवाया।' इंग्लैंड की बल्लेबाजी में शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और टीम ने सलामी बल्लेबाज डॉमनिक सिब्ले (11) और टीम में वापसी कर रहे हसीब हमीद (0) के विकेट जल्दी गंवा दिए जिससे उसका स्कोर 15 ओवर के भीतर दो विकेट पर 23 रन हो गया। कप्तान जो रूट ने हाालंकि नाबाद 48 रन बनाकर दिन का खेल खत्म होने तक टीम का स्कोर तीन विकेट पर 119 रन तक पहुंचाया। रूट ने सलामी बल्लेबाज रोरी बर्न्स (49) के साथ तीसरे विकेट के लिए 85 रन जोड़े।