जनमंच में आयोजित वैंडरों को ऋण प्रमाण पत्र प्रदान करते नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह व अन्य वैंडरों को दिया गया डिजीटल पेमेंट का प्रशिक्षण

सहारनपुर। नगर निगम व डूडा द्वारा ‘स्वनिधि से समृद्धि’ योजना के अंतर्गत जनमंच में ब्रहस्पतिवार को आयोजित एक मेगा कैंप में सौ से अधिक वैंडरों को ऋण प्रमाण पत्र दिये गए और 22 वैंडरों को डिजीटल पेमंेट का प्रशिक्षण दिया गया। बैंकों के अधिकारी भी इस अवसर पर मौजूद रहे।

वैंडरों के सामाजिक व आर्थिक जीवन स्तर को ऊंचा उठाने तथा उनके रोजगार को पटरी पर लाने के लिए सरकार के निर्देश पर वैंडरों को बैंकों से बिना गारंटी ऋण उपलब्ध कराने के लिए आज दूसरे दिन भी जनमंच में मंेगा कैंप का आयोजन किया गया। वैंडरों को अधिक से अधिक बैंक ऋण देने के लक्ष्य के अनुरुप आज सौ से अधिक वैंडरों को ऋण प्रमाण पत्र वितरित किये गए। नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह, पीओ डूडा अनुज प्रताप सिंह व डिस्ट्रिक्ट लीड बैंक मैनेजर संतोष कुमार ने ऋण प्रमाण पत्र प्रदान किये। इस अवसर पर सभी बैंकों के समन्वयक भी मौजूद रहे।

नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने वैंडरों से आह्वान किया कि वे डिजीटल पेमेंट के माध्यम से ऋण भुगतान करें ताकि कैश बैक ऑफर का लगभग 1700 से 2000 रुपये तक का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि यदि वैंडर अपनी किश्त समय से और डिजीटल माध्यम से जमा कराते है तो उन्हें जो छूट मिलती है वह उनके द्वारा ऋण पर दिये जाने वाले ब्याज से भी ज्यादा होती है।

 इस तरह वैंडर लिए गए ऋण की मूल राशि में भी बचत कर लेता है। कैंप में 22 वैंडरों को पेटीएम व फोन पे द्वारा डिजीटल भुगतान का भी प्रशिक्षण दिया गया। वैंडरों की बैंक संबंधी समस्याओं का भी समाधान किया गया। कार्यक्रम में उक्त के अलावा प्रवर्तन दल प्रभारी कर्नल बी एस नेगी व उनकी टीम तथा डूडा के परियोजना मैंनेजर संतोष, निगम के संजीव व देव आदि मौजूद रहे।