भय्यू महाराज की मौत के बाद उनकी सम्पत्ति और ट्रस्ट के दस्तावेज में घोटाले : कुहू

इंदौर। भय्यू महाराज की मौत के बाद उनकी सम्पत्ति एवं ट्रस्ट के दस्तावेज में भी कई प्रकार के घोटाले का आरोप उकनी बेटी कुहू ने लगाया है। पुणे में रह रही कुहू और उनके वकील एके श्रीवास्तव ने यह भी कहा कि यह धंाधली भय्यू महाराज के ही विश्वासपात्र लोगों के द्वारा की गई है। कुहू ने कहा कि ट्रस्ट में भी उन्हें शामिल किया गया है, जबकि मुझसे इसके लिए सहमति नहीं ली गई और मेरे हस्ताक्षर भी फर्जी हैं। इस गड़बड़ी की जांच के लिए वे रजिस्ट्रार कार्यालय के साथ ही पुलिस में भी शिकायत दर्ज कराएंगी। कुहू ने इस बात को सामने रख अप्रत्यक्ष रूप से अपने पिता की दूसरी पत्नी आयुषी पर फर्जीवाड़े के आरोप लगाए हैं, क्योंकि ट्रस्ट की अध्यक्ष आयुषी ही हैं। कुहू और उनके वकील ने उनके पिता के ट्रस्ट में कुहू की फर्जी हस्ताक्षर कर एवं उनके आधार कार्ड का दुरुपयोग कर उनकी नियुक्ति ट्रस्टी के रूप में करने के आरोप भी पदाधिकारियों पर लगाए हंै। साथ ही कुहू ने यह कहा है कि बिना स्वीकृति के ही पुराने ट्रस्टियों को बाहर किया जा रहा है और नए सदस्यों को जोड़ा जा रहा है और यह काम कौन कर रहा है इसकी जानकारी नहीं है। उनके वकील श्रीवास्तव ने कहा कि रजिस्ट्रार ऑफिस से ट्रस्ट के दस्तावेजों के संबंध में जानकारी चाही गयी थी। न तो रजिस्ट्रार ऑफिस के कर्मचारियों और एसडीएम पराग जैन ने भी उन्हें सहयोग नहीं किया और दस्तावेज भी उपलब्ध नहीं कराए। कुहू का कहना है कि पहले जब (12 जून 2018 को) भय्यू माहराज की मौत हुई थी तब मैं नाबालिग थी, अब बालिग हो चुकी हूं इसलिए ट्रस्ट सहित भय्यू महाराज की अन्य संपत्ति आदि में की जा रही गड़बड़ी के विरुद्ध सक्रिय हुई हूं। जिस ट्रस्ट में मुझे फर्जी तरीके से शामिल किया गया है, उसमें विधिसम्मत तरीके से सदस्य बनने के लिए आवेदन किया है क्योंकि मैं अपने पिता का ट्रस्ट संभालना चाहती हूं। इससे पहले चाहती हूं कि ट्रस्ट में चल रही धांधली की जांच हो और मनमाने तरीके से हटाए और उनकी जगह बनाए नए ट्रस्टियों के संबंध में रजिस्ट्रार कार्यालय जांच करे।