थैलेसीमिया जांच से होगी रोगों की बचाव

गोंडा । अयोध्या में होने वाले जानलेवा थैलेसीमिया की बीमारी की जांच के लिए होने वाले शिविर के लिए गोंडा में जागरूकता फैलाने के लिए टीवीआज शनिवार 7 अगस्त को स्थान झूलेलाल धर्मशाला में बैठक का आयोजन किया गया। भारतीय सिंधी सभा के जिला महामंत्री किशन राज्यपाल ने बताया कि बैठक में अयोध्या से गोंडा मुख्य अतिथि के रुप में आए सिंधी समाज की संस्था भक्त प्रल्हाद सेवा समिति के अध्यक्ष राजकुमार मोटवानी ने कहा थैलेसीमिया की जांच से ही अपने परिवार को बचाया जा सकता है। मेजर थैलेसीमिया रोगी का जीवन अधिकतम 20 से 25 वर्ष का होता है। उन्होंने कहा इस रोग से जो व्यक्ति पीड़ित रहता है। उसे लगभग हर महा रक्त चड़वाना पड़ता है। अयोध्या से वशिष्ठ अतिथि के रूप में आए उत्तर प्रदेश सिंधी युवा समाज के प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश ओमी ने कहा कि आगामी 15 अगस्त को अयोध्या शहर की राम नगर कॉलोनी में एक दिवसीय थैलेसीमिया जांच शिविर का आयोजन होगा, जिसमें गोंडा सहित सुल्तानपुर,अंबेडकरनगर,  बस्ती के लोग जांच हेतु शामिल होंगे। यह जांच कोई भी व्यक्ति करा सकता है। जिसमें आयु सीमा 10 से 60 वर्ष  है। बाहरी अस्पतालों में या जांच 15 से 18 सौ के बीच होती है। लेकिन संस्था द्वारा यह जांच निशुल्क होगी।