जमीनी स्तर पर हो योजनाओं का क्रियान्वयन, सभी पात्रों को योजनाओं से कराए लाभान्वित: डीएम

सीएम कन्या सुमंगला योजना में करें आवेदन, उठाए लाभ: डीएम

लखीमपुर खीरी। डीएम अरविंद कुमार चौरसिया ने सीएम कन्या सुमंगला योजना, उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, एडिप योजना व वयोश्री योजना के जमीनी स्तर पर सफल क्रियान्वयन के लिए अधीनस्थ अधिकारियों की समीक्षा कर जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने मिशन शक्ति अभियान के फेज-3 के तहत होने वाली विभिन्न गतिविधियों के संबंध में बिंदुवार समीक्षा की एवं जरूरी निर्देश दिए। डीएम ने निर्देश दिए कि उक्त सभी योजनाओं में कोई भी वंचित न रहने पाए। प्रत्येक दशा में सुनिश्चित किया जाए। बैठक में डीपीओ संजय कुमार निगम ने सीएम कन्या सुमंगला योजना के जरिए एक अप्रैल 2019 से जन्मी कन्याओं को छह किस्तों में 15 हजार दिए जाने का प्रावधान है। बालिका के जन्म पर दो हजार, बालिका के एक वर्ष पूर्ण टीकाकरण के बाद एक हजार, कक्षा एक में बालिका के प्रवेश के बाद दो हजार , कक्षा 06 में बालिका के प्रवेश के बाद दो हजार, कक्षा 09 में बालिका के प्रवेश के बाद तीन हजार, ऐसी बालिकाएं जिन्होंने कक्षा बारहवीं उत्तीर्ण करके स्नातक डिग्री या कम से कम दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लिया हो उन्हें पांच हजार एकमुश्त धनराशि खाते में पीएफएमएस के जरिए भेजी जाएगी। उन्होंने योजना की पात्रता, संलग्न किए जाने वाले अभिलेखों के बारे में जानकारी दी। उप्र सीएम बाल सेवा योजना के जरिए अनाथ बच्चों को सहायता प्रदान किए जाने का प्रावधान है। उन्होंने योजना की पात्रता व शर्तों की जानकारी देकर उपस्थित सभी अधिकारियों से अपेक्षित सहयोग मांगा। जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी वीरपाल ने बताया कि एडिप योजना से दिव्यांगों को उनकी आवश्यकता के अनुरूप उपकरण मुहैया कराए जाते हैं। वही जिले का चयन वयोश्री योजना में किया गया। इस योजना के जरिए 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले वृद्धजनों को उनकी स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं के अनुरूप उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे।