पेरिस ओलंपिक की तैयारी तेज, टॉप्स एथलीटों की मदद के लिये नयी नीति, कोचों की नियुक्ति शीघ्र

तोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन के बाद पेरिस में 2024 में होने वाले ओलंपिक की तैयारी के मद्देनजर विभिन्न खेलों में मुख्य कोचों सहित विशेषज्ञों के अधिकांश रिक्त पदों पर नियुक्ति अगले महीने के अंत तक हो जायेगी। कई कोचों और विशेषज्ञों का कार्यकाल तोक्यो ओलंपिक तक ही था जिसके बाद महिला हॉकी टीम के कोच समेत कई पद खाली हैं, तोक्यो ओलंपिक में भारत ने अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए एक स्वर्ण समेत सात पदक जीते। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में खेलों में प्रतिभा, तकनीक और पेशेवरपन लाने के प्रयासों को और तेज तथा व्यापक करने की बात कही थी। सरकार ने संसद की एक समिति को बताया कि विभिन्न खेलों में मुख्य कोच, वरिष्ठ कोच सहित विशेषज्ञों की भर्ती प्रक्रिया के तहत इस वर्ष सितंबर के अंत तक अनुबंध या प्रतिनियुक्ति के आधार पर 536 प्रशिक्षकों के रिक्त पदों को भरा जायेगा। युवा मामले एवं खेल विभाग द्वारा महिला, बाल एवं खेल संबंधी संसद की स्थायी समिति के समक्ष पेश आंकड़ों के मुताबिक, इन नियुक्तियों के बाद भी वरिष्ठ प्रशिक्षक, प्रशिक्षक एवं सहायक प्रशिक्षक के 308 पद रिक्त रहेंगे। संसदीय समिति ने विभाग से कोचों के संवर्ग पुनर्गठन और भर्ती प्रक्रिया को यथासंभव पूरा करने को कहा है ताकि पदक जीतने की संभावना पर प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ें। विभाग के अनुसार, पेरिस ओलंपिक 2024 खेलों के लिये ‘टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना (टॉप्स) के एथलीटों की सहायता के लिये एक नीति तैयार की जा रही है और यह सितंबर से प्रभावी होगी। संसद के मानसून सत्र में समिति के 317वें प्रतिवेदन की सिफारिशों पर सरकार द्वारा की गई कार्रवाई संबंधी ताजा रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने संसद की एक समिति को बताया कि वर्ष 2024 के पेरिस ओलंपिक को ध्यान में रखते हुए विभिन्न खेलों में विदेशी कोचों और विशेषज्ञों की भर्ती चल रही है। युवा मामले एवं खेल विभाग ने बताया, ‘‘ कोचिंग कैडर के पुनर्गठन का कार्य चल रहा है। कैडर पुनर्गठन को अंतिम रूप देने के बाद शेष रिक्तियों को भरा जायेगा क्योंकि विभिन्न ग्रेडों में प्रस्तावित संख्या मौजूदा स्वीकृत संख्या से अलग है । इसके लिये विज्ञापन जारी किया गया है।  विभाग ने बताया कि संवर्ग (कैडर) पुनर्गठन को अंतिम रूप देने के बाद शेष पदों को भरने के लिये नयी अधिसूचना जारी की जायेगी ।

विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, 30 सितंबर 2021 तक विभिन्न खेलों में मुख्य प्रशिक्षक के 31 पदों, वरिष्ठ प्रशिक्षकों के 35 पदों, प्रशिक्षकों के 149 पदों और सहायक प्रशिक्षकों के 321 पदों को अनुबंध या प्रतिनियुक्ति के आधार पर भरा जायेगा। विभाग ने यह भी बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न स्थितियों के कारण जिन खेलो में भी विदेशी कोचों ने इस्तीफा दिया है, वहां उपयुक्त विकल्पों के आधार पर नियुक्ति की जा रही है।रिपोर्ट के अनुसार, विभाग ने बताया कि उदाहरण के लिये विदेशी कोच के वर्ग में हॉकी में विश्लेषणात्मक कोच और एथलेटिक्स में मध्य एवं लंबी दूरी के कोच को पहले ही अंतिम रूप दिया जा चुका है। संसदीय समिति ने अपनी अतिरिक्त सिफारिशों में कहा है कि, ‘‘ कोचों के संवर्ग पुनर्गठन और भर्ती प्रक्रिया को यथासंभव पूरा किया जाना चाहिए ताकि विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेल के आयोजनों में खिलाड़ियों की कोचिंग और पदक जीतने की संभावना पर प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़े। ’’

विभाग ने समिति को बताया, ‘‘ पेरिस ओलंपिक 2024 खेलों के लिये ‘टॉप विकास समूह’ के एथलीटों की सहायता के लिये एक नीति तैयार की जा रही है। नयी नीति एक सितंबर 2021 से प्रभावी होगी और इसे अंतिम रूप दिया जा रहा है।