जिलाधिकारी द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर में झण्डारोहण एवं सामूहिक राष्ट्रगान किया गया

आजमगढ़ : जिलाधिकारी राजेश कुमार द्वारा 75वें स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर कलेक्ट्रेट परिसर में झण्डारोहण एवं सामूहिक राष्ट्रगान किया गया। इस अवसर पर जीजीआईसी आजमगढ़ की छात्रा अराधना वर्मा, सुजाता यादव, महिमा तिवारी एवं सोम्या द्वारा देशभक्ति गीत की प्रस्तुति की गयी, जो काफी सराहनीय रहा। 

जिलाधिकारी ने समस्त अधिकारियों/कर्मचारियों को 75वें स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। उन्होने कहा कि राष्ट्र प्रेम का मतलब सिर्फ सरहदों की सुरक्षा करना ही नही होता है, बल्कि सरहद के अन्दर जो लोग हैं उनकी सहायता करना भी राष्ट्र प्रेम है। सभी जरूरतमन्द लोगों की सहायता करें, राष्ट्र प्रेम हम लोगों के व्यवहार/आचरण में झलकना चाहिए।

आगे उन्होने कहा कि हमारे देश से अनेक कूप्रथाएं समाप्त हो गयी, हम सभी लोगों ने पिछले 74 वर्षां में काफी प्रगति की है। उन्होने समस्त अधिकारियों/कर्मचारियों से कहा कि हमे अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी ईमानदारी के साथ करना चाहिए एवं सरकार द्वारा चलायी जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के अन्तिम व्यक्ति तक पहुॅचायें। उन्होने कहा कि हम सभी का कर्तव्य है कि हमें जो कार्य दिये जायें, उसे पूरी ईमानदारी के साथ पूरा करें। 

जिलाधिकारी ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस को एक त्यौहार के रूप में मनायें। 15 अगस्त को ही अपने देश का जन्मदिन है। प्रत्येक त्यौहार आत्म निरीक्षण करने का भी अवसर देता है, हम लोगों को आत्म निरीक्षण करना चाहिए। उन्होने कहा कि  देश के विकास को रखकर हम अपने भूमिकाओं के प्रति न्याय करें, अपने दायित्वों का ठीक प्रकार से निर्वहन करें और देश, समाज, परिवार या पड़ोसी के प्रति अपने दायित्वों का सम्यक रूप से निर्वाह करें। उन्होने बताया कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार गरीब व्यक्तियों के लिए संवेदनशील है, जिसके लिए सरकार द्वारा कोविड काल में सभी गरीब व्यक्तियों के लिए निःशुल्क राशन की व्यवस्था सुनिश्चित की है, जिससे कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। 

इसी के साथ ही मुख्य राजस्व अधिकारी हरि शंकर व अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह द्वारा भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी हरी शंकर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, उप जिलाधिकारी (न्यायिक) सगड़ी धीरज श्रीवास्तव सहित कलेक्ट्रेट परिवार के अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित रहे।