गंदगी के ढेर में सिसक रहा यहां के ग्रामीण वाशिंदे

जनपद फतेहपुर के अमौली विकासखंड क्षेत्र गांव डिघरुवा का हैं, जहां विकास कार्य पूरी तरह से चरमराई हुई है महीनों महीनों तक गांव की नालियां सफाई व्यवस्था पूरी तरह से धड़ाम हुआ है जहां प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ मिशन को लेकर अपना 56 इंच का सीना चौड़ा कर जो फूला रहे तो वही उनके अधिकारी बड़ी बड़ी बीमारियों को न्योता दे रहे हैं वहीं मीडिया से बातचीत में ग्रामीण ने बताया कि दो दो महीना हो जाते हैं कभी सफाई कर्मचारी आता ही नहीं ना कभी ग्राम विकास अधिकारी आता है पानी बरसने के बाद भी हफ्तों से पानी गलियों में भरा रहता है ना कभी अधिकारी आते और ना ही कभी ग्राम प्रधान को दिखता है ऐसा लगता है कि ब्लॉक अधिकारियों के लिए सफाई कर्मचारी मुर्गी के सोने के अंडे के बराबर हो गए तभी तो कोई भी अधिकारी सुध लेने से कतरा रहा है वहीं जब मीडिया से बातचीत में ब्लाक अमौली  वीडियो कमल किशोर ने कि कल आकर देखते और साथ में यह भी कहा कि हमारा यही काम हैं, नालियों की सफाई कराने का अब यह देखना होगा कि अधिकारी अपनी कुलकर्णी नीद से कब जागेंगे।