नीरज

नमन तुझे है नीरज,

नमन तेरी लगन को।

चूम लिया आज तूने,

ऊँचे उस गगन को।


देखा था तूने सपना जो,

वो पूरा कर दिखाया।

सारे जग में अपना तूने,

परचम आज लहराया।


दिला के सोना देश को,

इतिहास रच दिया।

माँ भारती के लाल तूने,

कमाल कर दिया।


गदगद है देश सारा,

छाती है सबकी चौड़ी।

हर गली मोहल्ले में ,

खुशी की लहर दौड़ी।


टोकियो की धरती पर,

तिरंगा तूने लहराया।

माँ भारती का शीश तूने,

फक्र से उठाया।


उछाल दिया भाला आज,

तूने तबीयत से।

बन गया हीरो असली,

नीरज तू अपने दम से।


चमकता रहे गगन में,

तू सितारा बनके।

है दुआ हमारी यही,

तू यूँ ही सदा दमके


सपना (सo अo)

प्राoविo-उजीतीपुर

विoखo-भाग्यनगर

जनपद- औरैया

उत्तर प्रदेश