डीएम ने फसल अवशेष जलाने से उत्पन्न प्रदूषण की रोकथाम, उपायों पर अधिकारियों के संग बनाई रणनीति

लखीमपुर खीरी। संपूर्ण समाधान दिवस के बाद तहसील गोला सभागार में डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने पराली का सीटू प्रबंधन व प्रवर्तन कार्यवाही पर बिंदुवार चर्चा की, संबंधित को जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि कटाई के दौरान प्रयोग किए जाने वाले कंबाइन हार्वेस्टर का प्रयोग सुपर एक्स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम (सुपर-एसएमएस) के बिना कदापि ना हो। यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि फसल अवशेष को जलाने से रोकने हेतु न्याय पंचायत स्तर, विकासखंड स्तर, जनपद स्तर पर गोष्ठियों का आयोजन कर लीफलेट होल्डिंग के जरिए जागरूक किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए की कोई भी कंबाइन हार्वेस्टर सुपर एक्स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम के बगैर चलते हुई पाई जाए तो उसे तत्काल सीज किया जाए और कंबाइन मालिक के स्वयं के खर्चे पर सुपर एक्स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम लगवा कर ही छोड़ा जाए।