राहुल गांधी और अन्य नेताओं के ट्विटर अकाउंट बहाल

नई दिल्ली : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट को बंद (लॉक) करने के कारण खड़े हुए विवाद के करीब करीब एक सप्ताह बाद इस माइक्रोब्लॉगिंग मंच ने शनिवार को राहुल गांधी, पार्टी और उसके कई वरिष्ठ नेताओं के अकाउंट को बहाल (अनलॉक) कर दिया। पार्टी सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस एवं राहुल गांधी के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के अकाउंट भी ‘अनलॉक हो हो गए हैं। ट्विटर अकाउंट बहाल होने के बाद कांग्रेस ने ट्वीट किया, ‘सत्यमेव जयते। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने अपना ट्विटर अकाउंट बहाल होने के बाद ट्वीट किया, ‘प्रिय ट्विटर, आपने मेरा अकाउंट लॉक क्यों किया, जबकि आप मेरा पोस्ट हटा सकते थे? मैंने अपना पोस्ट न तो डिलीट किया और न ही अपील की, फिर आपने मेरा अकाउंट बहाल क्यों किया? आप किसके दबाव में काम कर रहे हैं? राहुल गांधी ने अपना ट्विटर अकाउंट बंद किये जाने को लेकर खड़े हुए विवाद की पृष्ठभूमि में शुक्रवार को ट्विटर पर जमकर निशाना साधा था और आरोप लगाया था कि यह अमेरिकी कंपनी भारत की राजनीतिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप कर रही है तथा लोकतांत्रिक ढांचे पर हमला कर रही है। उन्होंने यह दावा भी किया था कि ट्विटर पक्षपातपूर्ण है और वह सरकार के कहे मुताबिक काम कर रहा है। उल्लेखनीय है कि ट्विटर ने राहुल गांधी, कांग्रेस और पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं के ट्विटर अकाउंट बंद कर दिये थे। कुछ दिनों पहले ही दिल्ली में कथित दुष्कर्म एवं हत्या की पीड़िता 9 वर्षीय बच्ची के माता-पिता से मुलाकात की तस्वीर साझा करने को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष का ट्विटर अकाउंट बंद किया गया था। ट्विटर ने कहा था कि उसने ये कदम नियमों के तहत उठाए हैं। कांग्रेस का कहना था कि उसके संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, महासचिव अजय माकन, जितेंद्र सिंह, सांसद मणिकम टैगोर, महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव, प्रवक्ता पवन खेड़ा समेत करीब 5000 नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के ट्विटर अकाउंट लॉक किये गए। ट्विटर ने शनिवार को कहा कि कथित दुष्कर्म एवं हत्या मामले की पीड़िता बच्ची के परिवार से तस्वीरें उपयोग करने से संबंधित सहमति पत्र सौंपे जाने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का अकाउंट बहाल (अनलॉक) किया गया है, लेकिन इन तस्वीरों वाले ट्वीट को रोके (विथहोल्ड) रखा जाएगा क्योंकि ये भारतीय कानूनों का उल्लंघन करते हैं।