भारत को 75वें स्वतंत्रता दिवस की दी बधाई

लखनऊ। जापान इंटरनेशनल कॉपरेशन एजेंसी (जायका) ने भारत का 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाया। पिछले दशकों में भारत ने हर क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति हासिल की है और अब देश वैश्विक स्तर पर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। हाल ही में टोक्यो ओलंपिक में भारत के एथलीटों ने सराहनीय सफलता हासिल की है। जापान इंटरनेशनल कॉपरेशन एजेंसी (जायका) कोविड-19 महामारी की कठिनाइयों से पार पाकर उल्लेखनीय सफलता हासिल करने के लिए सभी भारतीय एथलीटों को बधाई देती है। भारत जापान के ऑफिसियल डेवलपमेंट असिस्टेंस (ओडीए) का सबसे बड़ा डेवलपमेंट पार्टनर है। भारत के लिए जापान का ओडीए वर्ष 1958 शुरू हुआ था। जापान की तरफ से दुनिया में पहला ओडीए ऋण भारत को ही दिया गया था। तब से, भारत में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी 300 से ज्यादा सार्वजनिक परियोजनाओं के लिए ओडीए ऋण के तौर पर 6,566 बिलियन से ज्यादा जापानी येन (लगभग 4,37,742 करोड़ रुपये) स्वीकृत किए जा चुके हैं। ओडीए ऋण के अलावा, जायका ने टैक्निकल कॉपरेशन प्रोजेक्ट्स के लिए भारत की विभिन्न संस्थाओं और एजेंसियों के साथ भागीदारी की है। इसका साथ ही निजी क्षेत्र के साथ भी भागीदारी की गई है और जापान से स्वयंसेवकों को भी भारत भेजा गया है।जायका इंडिया के प्रमुख प्रतिनिधि श्री मात्सुमोतो कात्सु ने कहा, “हम भारत को 75 वें स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हैं। भारत के विकास का वैश्विक समुदाय पर काफी असर पड़ता है। यह असर न केवल सस्टेनेबल डेवपलपमेंट गोल्स (एसडीजी) हासिल करने की उपलब्धि में दिखाई देता है, बल्कि वैश्विक स्थिरता और खुशहाली को बनाए रखने में भी इसकी अहम भूमिका है। भारत और जापान विभिन्न परियोजनाओं पर सहयोग करने के लिए सहमत हुए हैं और आने वाले वर्षों में दोनों देशों के बीच संबंध और भी मजबूत होंगे। दोनों देश लोकतंत्र, स्वतंत्रता, समानता, कानून के शासन और मानवाधिकारों का सम्मान जैसे साझा मूल्यों में विश्वास करते हैं। हमारे बीच निकट संबंध होने से महामारी और जलवायु परिवर्तन जैसी वैश्विक चुनौतियों से निपटने में काफी सहयोग मिलेगा। हम वर्ष 2022 तक भारत के साथ द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग को और मजबूत बनाएंगे। वर्ष 2022 में जापान और भारत के राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ भी होगी । इस वर्ष भारत का 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है। दुनिया के दूसरे देशों की तरह भारत भी कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है। जायका कोविड-19 के कारण अपने प्रियजनों को खोने वाले सभी लोगों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करती है। जायका ने इस बात को दोहराया कि इस महामारी से उबरने में वह भारत की सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध है। मेट्रो परियोजनाएं भारत-जापान की आपसी भागीदारी और भारतीय समाज को बदलने का बढ़िया उदाहरण हैं। जायका ने भारत के छह महानगरों में बड़े पैमाने पर बनाई जा रही मेट्रो परियोजनाओं में सहयोग किया है। सरकार की सोच है कि यातायात की भीड़ को कम करके, यात्रा को आसान बनाकर और प्रदूषण को कम करके भारत में यातायात को तेज, आधुनिक, विश्वसनीय और पर्यावरण अनुकूल बनाया जाए और जायका इसी सोच को साकार करने के उद्देश्य से सहयोग कर रही है। इन परियोजनाओं में कई वैल्यू एडेड विशेषताएं शामिल हैं जैसे समय का पालन, यात्रा से जुड़े शिष्टाचार, साथी यात्रियों का सम्मान करना और महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अलग कोच लगाना।