भारतीय मिश्रित 4&400 मीटर रिले टीम ने अंडर-20 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जीता कांस्य

 भारतीय मिश्रित 4&400 मीटर रिले टीम ने यहां बुधवार को अपनी हीट एक में पहला स्थान हासिल करके केन्या के नैरोबी में चल रही अंडर -20 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया। लेकिन भारतीय रिले टीम शाम को हुए फ़ाइनल में तीन मिनट 20.60 सेकंड का समय निकालकर कांस्य पदक ही जीत पायी।

अब्दुल रज्जाक, प्रिया मोहन, सुमी और कपिल की मौजूदगी वाली भारतीय टीम ने हीट में 3:23.36 सेकेंड के चैंपियनशिप रिकॉर्ड समय के साथ अपनी हीट जीती, जिसे बाद में नाइजीरिया ने दूसरी हीट में बेहतर किया। नाइजीरियाई खिलाडिय़ों ने भारतीय टीम के समय से दो सेकंड तेज गति से यानी 3:21:66 सेकेंड के समय साथ दौड़ समाप्त की। नाइजीरिया ने तीन मिनट 19.70 सेकंड का समय निकालकर स्वर्ण और पोलैंड की चौकड़ी ने तीन मिनट 19.80 सेकेंड का समय निकालकर रजत पदक जीता। जमैका की टीम भारत से पिछड़कर चौथे स्थान पर रही। जमैका की टीम ने तीन मिनट 23.04 सेकण्ड का समय निकाला।

भारत की सबसे तेज चर्टरमाइलर प्रिया अपनी हीट में चौथे स्थान पर रहीं, लेकिन दो सबसे तेज नॉन-ऑटोमैटिक चलिफायर के बीच दौड़ समाप्त करने के बाद उन्होंने महिलाओं की 400 मीटर दौड़ के फाइनल में जगह बनाई। दरअसल तीन हीट में से शीर्ष दो और हारने वालों में दो सबसे तेज धाविकाओं को फाइनल में स्थान दिया गया। प्रिया 53.79 सेकेंड के समय के साथ ओवरऑल चौथी सबसे तेज धाविका रही, जिसकी बदौलत उन्होंने पोडियम (टॉप तीन) की दौड़ में स्थान सुनिश्चित किया। अन्य भारतीय धाविका सुमी 55.43 सेकेंड के समय के साथ पांचवें स्थान पर रहीं और फाइनल के लिए चलीफाई नहीं कर सकीं।