सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाई 12वीं कक्षा के रिजल्ट जारी करने की समय सीमा

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 12वीं कक्षा के रिजल्ट जारी करने को लेकर तय की गई 31 जुलाई की समयसीमा को मेघालय और ओडिशा राज्य के शिक्षा बोर्डों के लिए बढ़ा दिया। हालांकि महाराष्ट राज्य शिक्षा बोर्ड ने भी इस तरह का आवेदन किया था लेकिन इस सप्ताह उसने 12वीं के नतीजे जारी कर दिए। कोविड-19 महामारी की स्थिति के चलते मेघालय ने रिजल्ट जारी करने के लिए एक सप्ताह और ओडिशा बोर्ड ने दो सप्ताह का समय और मांगा था। जस्टिस एएम खानविलकर और दिनेश माहेश्वरी की बेंच ने दोनों बोर्डों के लिए उनके मांग के अनुसार रिजल्ट जारी करने की समयसीमा बढ़ा दी। 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 24 जून को सभी राज्य शिक्षा बोर्डों को 31 जुलाई तक 12वीं के नतीजे जारी करने के निर्देश दिए थे। तीन राज्य बोर्डों ने समयसीमा एक से दो सप्ताह बढ़ाने की मांग की थी। 

काउंसिल ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन, ओडिशा ने अपने आवेदन में कहा, 'काउंसिल के पास स्टाफ की काफी कमी है। स्टाफ के काफी मेंबर और उनका परिवार कोविड-19 संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। इसके चलते रिजल्ट जारी करने की प्रक्रिया बुरी तरह प्रभावित हुई है।' मेघालय राज्य एजुकेशन बोर्ड ने कहा था कि कोरोना के चलते रिजल्ट का डाटा जुटाने में देरी हुई। उसे 12वीं आर्ट्स स्ट्रीम का फाइनल रिजल्ट तैयार करने में 7 अगस्त तक का समय चाहिए।