बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के सिलसिले में सीबीआई ने 11 मामले किए दर्ज

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा के गंभीर मामलों की जांच के तहत केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 11 अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। एजेंसी ने शुक्रवार को कहा इसकी जानकारी दी। स्थानीय लोगों और राज्य प्रशासन द्वारा जांच में बाधा डालने की आशंका के बीच केंद्र ने मामलों की जांच के लिए सीबीआई टीमों को सीआरपीएफ की सुरक्षा मुहैया कराई है।

एजेंसी ने कहा कि कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा जांच सौंपे जाने के बाद अब तक उन्होंने ग्यारह अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। पहला मामला इससे पहले 3 मई को नदिया जिले के गंगनापुर थाने में 12 आरोपियों और अज्ञात लोगों के खिलाफ एक पीडि़त पर बांस की डंडों से हमला करने का मामला दर्ज किया गया था।

दूसरा मामला इससे पहले बांकुरा जिले के कोतुलपुर थाने में चार जुलाई को तीन आरोपियों के खिलाफ इस आरोप में दर्ज किया गया था कि उन्होंने अन्य अज्ञात लोगों के साथ मिलकर 6 मई को एक पीडि़त का अपहरण किया था, जिसका शव दो दिन बाद एक तालाब के पास मिला था।

तीसरा मामला इससे पहले 14 मई को नदिया जिले के छपरा पुलिस थाने में आठ लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया था, जिन पर एक व्यक्ति पर चॉपर से हमला करने का आरोप है।

चौथा मामला पहले बांकुरा जिले के सिंधु पुलिस स्टेशन में 10 जून को 30 आरोपियों और अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ इस आरोप में दर्ज किया गया था कि उन्होंने क्षेत्र के कुछ घरों पर हथियारों से हमला किया था और महिला सदस्यों का यौन उत्पीडऩ भी किया था। उन्होंने कथित तौर पर एक व्यक्ति का अपहरण भी किया और बाद में उसे एक पेड़ से लटका दिया।

पांचवां मामला इससे पहले मुर्शिदाबाद जिले के नबाग्राम थाने में 10 मई को सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों के खिलाफ दर्ज किया गया था। छठा मामला दो मई को कोलकाता के नारकेलडांगा पुलिस थाने में 7-8 अज्ञात लोगों के खिलाफ एक पीडि़ता पर लाठियों से हमला करने के आरोप में दर्ज किया गया था।

सातवां मामला इससे पहले उत्तर 24 परगना जिले के भाटपारा थाने में छह जून को चार लोगों के खिलाफ एक पीडि़ता के घर जाने और उसे तथा परिवार के अन्य सदस्यों को गाली देने के आरोप में दर्ज किया गया था। एक आरोपी ने पीडि़ता के माथे पर बम फेंका, जिससे उसकी मौत हो गई।

आठवां मामला इससे पहले कूचबिहार जिले के तुफानगंज थाने में पांच मई को 16 लोगों के खिलाफ दो लोगों पर हमला करने के आरोप में दर्ज किया गया था, जिनमें से एक की मौत हो गई। नदिया जिले के कोतवाली पुलिस थाने में 14 जून को 10 लोगों के खिलाफ शिकायतकर्ता के घर में कथित तौर पर हथियारों से हमला करने के आरोप में नौवां मामला दर्ज किया गया था।

सीबीआई ने कहा, उन्होंने कथित तौर पर शिकायतकर्ता के घर में तोडफ़ोड़ की और उसके पति को घसीटा, जिसकी बाद में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 10वां मामला इससे पहले पूर्वी बर्दवान जिले के केतुग्राम थाने में 22 वर्षीय युवक की निर्मम हत्या के मामले में दर्ज किया गया था।

शिकायतकर्ता और उसके परिवार के सदस्यों पर हमला करने के आरोप में छह लोगों के खिलाफ दक्षिण 24 परगना जिले के उस्ती पुलिस स्टेशन में पहले 11वां मामला दर्ज किया गया था। शिकायतकर्ता के छोटे बेटे की नजदीक से गोली लगने से मौत हो गई।