एटीएम में समय पर पैसा नहीं डालने वाले बैंक पर लगेगा 10,000 रुपये का जुर्माना,1 अक्टूबर से लागू होगी यह व्यवस्था

मुंबई : एटीएम में कैश नहीं होने के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आए दिन ऐसा होता है कि आप एटीएम बूथ में जाते हैं और कैश नहीं मिलता। अब अक्टूबर से यह समस्या खत्म हो सकती है। आरबीआई ने एटीएम में नकदी नहीं होने के कारण लोगों को होने वाली असुविधाओं को दूर करने के लिए बैंकों पर लगाम कसने जा रहा है। भारतीय रिजर्व बैंक अब एटीएम में समय पर पैसा नहीं डालने वाले संबंधित बैंक पर वह 10,000 रुपये का जुर्माना लगाएगा। 

आरबीआई किसी एक महीने में एटीएम (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) में 10 घंटे से अधिक समय तक नकदी नहीं रहने पर संबंधित बैंकों पर यह जुर्माना लगाएगा। यह व्यवस्था एक अक्टूबर, 2021 से लागू होगी।  केंद्रीय बैंक ने कहा, ''एटीएम में नकदी नहीं डालने को लेकर जुर्माना लगाने की व्यवस्था का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि लोगों की सुविधा के लिए इन मशीनों में पर्याप्त धन उपलब्ध हो।

मशीन में समय पर डाली जाए नकदी

रिजर्व बैंक को नोट जारी करने की जिम्मेदारी मिली हुई है। वहीं बैंक अपनी शाखाओं और एटीएम के व्यापक नेटवर्क के माध्यम से जनता को पैसे उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी निभाते हैं। केंद्रीय बैंक ने कहा, ''इसीलिए यह निर्णय किया गया कि बैंक/व्हाइटलेबल एटीएम परिचालक एटीएम में नकदी की उपलब्धता को लेकर अपनी प्रणाली को मजबूत बनाएंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि मशीन में नकदी समय पर डाली जाए ताकि लोगों को परेशानी नहीं हो।

10 घंटे से अधिक समय तक नकदी नहीं तो जुर्माना

आरबीआई ने कहा, ''इस संदर्भ में नियम का अनुपालन नहीं करने पर उसे गंभीरता से लिया जाएगा और मौद्रिक जुर्माना लगाया जाएगा। एटीएम में नकदी नहीं डाले जाने के लिये जुर्माने की योजना में यह प्रावधान किया गया है। योजना एक अक्टूबर, 2021 से प्रभाव में आएगी। जुर्माने की मात्रा के बारे में केंद्रीय बैंक ने कहा कि किसी भी एटीएम में अगर महीने में 10 घंटे से अधिक समय तक नकदी नहीं रहती है तो प्रति एटीएम 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

2021 के अंत तक 2,13,766 एटीएम

व्हाइट लेबल एटीएम के मामले में जुर्माना उस बैंक पर लगाया जाएगा, जो संबंधित एटीएम में नकदी को पूरा करता है। व्हाइट लेबल एटीएम का परिचालन गैर- बैंक इकाइयां करती हैं।बैंक व्हाइट लेबल एटीएम परिचालक से जुर्माना राशि वसूल सकता है।  देश भर में विभिन्न बैंकों के जून 2021 के अंत तक 2,13,766 एटीएम थे।