SBI समेत आठ सरकारी बैंकों ने खरीदी बैड बैंक में हिस्सेदारी

नई दिल्ली : एसबीआई, पीएनबी समेत देश के आठ सरकारी बैंक, नेशनल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (NARCL) या 'बैड बैंक' में हिस्सेदारी खरीदी है। 

किस बैंक की कितनी हिस्सेदारी: कॉर्पोरेट फाइलिंग के मुताबिक केनरा बैंक ने 10 रुपए प्रति स्टॉक के हिसाब से 1.2 करोड़ शेयर खरीदे हैं। वहीं,  बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB), भारतीय स्टेट बैंक (SBI), यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन बैंक ने क्रमश: 90.9 लाख शेयर खरीदे हैं। इसके अलावा, पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और बैंक ऑफ इंडिया ने क्रमश: 90 लाख शेयर जबकि बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने 50 लाख शेयर खरीदे हैं।

जानकारी के मुताबिक बैड बैंक में ये शुरुआती निवेशक हैं। इसमें निजी क्षेत्र के कर्जदाता भी शामिल होंगे। बैड बैंक के हिस्से के रूप में, एक परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी (एएमसी) भी बनाई जाएगी। 

क्या है बैड बैंक: दरअसल, बीते फरवरी महीने में आम बजट के दौरान बैड बैंक का जिक्र हुआ। ये बैंकों से उनका नॉन परफॉर्मिंग एसेट यानी एनपीए अकाउंट अपने कब्जे में ले लेगा। एनपीए वो अकाउंट होते हैं जिसमें बैंक कर्ज की वसूली नहीं कर पाते हैं। हालांकि, अब नेशनल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (NARCL) की अगुवाई में इन एनपीए अकाउंट का निपटारा होगा। 

बता दें कि इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) को बैड बैंक के गठन की जिम्मेदारी दी गई है। आईबीए जल्द रिजर्व बैंक के पास 6,000 करोड़ रुपये की पूंजी की प्रस्तावित पूंजी के साथ बैड बैंक के गठन के लिए आवेदन करेगा। वहीं, NARCL के शुरुआती बोर्ड का गठन हो चुका है। कंपनी ने भारतीय स्टेट बैंक के दबाव संपत्ति विशेषज्ञ पी एम नायर को प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया है। बोर्ड के अन्य निदेशकों में आईबीए के मुख्य कार्यपालक सुनील मेहता, एसबीआई के उप प्रबंध निदेशक एस एस नायर और केनरा बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अजित कृष्ण नायर शामिल हैं।