मंत्रिपरिषद में फेरबदल और नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण से पहले ये लोग पहुंचे PM आवास

नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी मंत्रिपरिषद में फेरबदल और नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण से पहले नई दिल्ली के सियासी गलियारों में चहलकदमी तेज है. बीजेपी के संभावित मंत्री धीरे-धीरे प्रधानमंत्री निवास पहुंच रहे हैं. वहां पहुंचने वाले चेहरों में ज्योतिरादित्य सिंधिया, असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र से सांसद नारायण राणे, कपिल पाटिल,डॉ भागवत कराड, और भारती पवार भी हैं. इन  के अलावा उत्तराखंड से सांसद अजय भट्ट और अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल भी पीएम आवास पहुंची हैं. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी पीएम आवास पहुंचे हैं.

माना जा रहा है कि शपथ ग्रहण समारोह से पहले इन लोगों को पीएम आवास बुलाकर उनके मंत्री बनने की औपचारिक सूचना दी जा रही है. जो लोग पीएम आवास पहुंचे हैं उनमें कर्नाटक से सांसद शोभा करंदलाजे और अजय मिश्रा (खीरी से सांसद) भी शामिल हैं. इनके अलावा पीएम आवास पहुंचने वालों में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी कृष्ण रेड्डी, केंद्रीय पंचायती राज राज्यमंत्री पुरुषोत्तम रुपाला भी शामिल हैं.

बीजेपी के महासचिव भूपेंद्र यादव भी पीएम आवास पहुंचे हैं. उनके भी मंत्री बनने की संभावना है. उनके नाम लंबे समय से चर्चा में रहा है. इस बीच सूत्रों ने जानकारी दी है कि केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा को मंत्रिपरिषद से हटाया जा सकता है. इससे पहले केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत को कल ही कर्नाटक का राज्यपाल बनाया गया है. चर्चा है कि कुछ और चेहरों को मंत्रिमंडल से हटाया जा सकता है, जबकि कुछ को राज्य मंत्री से कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम आवास पहुंचने वालों में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर, हरियाणा के सिरसा से सांसद सुनीता दुग्गल, दिल्ली से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी, महाराष्ट्र से सांसद प्रीतम मुंडे, लोक जनशक्ति पार्टी के पारस गुट के पशुपति पारस और जनता दल (यूनाइटेड) के आरसीपी सिंह और बंगाल से शांतनु ठाकुर सहित कुल 17 नेता शामिल हैं.

माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे सभी नेता, शाम 6 बजे राष्ट्रपति भवन के अशोक हॉल में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में, मंत्री पद की शपथ लेंगे. प्रधानमंत्री के रूप में मई 2019 में 57 मंत्रियों के साथ अपना दूसरा कार्यकाल आरंभ करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार केंद्रीय मंत्रिपरिषद में फेरबदल व विस्तार करने वाले हैं.

मौजूदा मंत्रिपरिषद में कर्नाटक के राज्यपाल बनाए गए केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत सहित कुल 53 मंत्री हैं और नियमानुसार केंद्रीय मंत्रिपरिषद में अधिकतम मंत्रियों की संख्या 81 हो सकती है.