सीएससी पशुधन स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह

फतेहपुर। पशुधन क्षेत्र राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था और देश के सामाजिक आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान निभा रहा है। यह भारतीय अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण विकास के वाहक के रूप में उभर रहा है और सकल घरेलू उत्पादन में इसका हिस्सा हत्वपूर्ण रूप से बढ़ रहा है। पशु स्वास्थ्य देखभाल पशुपालन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू है। पशु के स्वास्थ्य पर अपर्याप्त ध्यान कम उत्पादकता, बााँझपन और पशुओां के जीवन की हानि के रूप में पशुपालन करने वाले परिवारों के लिए भारी नुकसान का कारण हो सकता है।

 इसिलए मनुष्य की तरह पशुओ को समय-समय पर टीकाकरण और कृमिनाशक जैसे स्वास्थ्य देखभाल के उपाय करना महत्वपूर्ण है। इसके अलावा किसी भी पशु को बीमारी के लक्षण है, तत्काल पशु चिकित्सक की सलाह लेना चाहिए इस आवश्यकता को ध्यान मे रखकर 15 जुलाई 2021 को सीएससी -उत्तर प्रदेश द्वारा राज्य के प्रत्येक जिले “सीएससी पशुधन स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह” का आज आयोजन हुआ। 

आज फतेहपुर जिले के रारा चांदपुर स्थित गौशाला में भी “सीएससी पशुधन स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह” का आयोजन किया गया साथ ही विशेष कैंप के अंतर्गत अनुभवी पशु चिकित्सक की उपस्तिथि में पशुओां के सम्पूर्ण स्वास्थ्य की जानकारी तथा सभी समस्या का समाधान दिया गया व पशुओं का टीकाकरण किया गया। 

कैंप मे फसल बीमा की जानकारी तथा बीमा पंजीकरण का भी प्रबधन किया गया और किसानों की फसल को बीमित किया गया। कार्यक्रम में उप जिला पशुचिकित्सक डॉ एस के तिवारी व सीएससी जिला प्रबंधक शरद श्रीवास्तव व रवि केशव प्रताप सिंह तथा साथ मे जनसेवा केंद्र संचालक श्री शांती नाथ मौर्य और चंद्रशेखर भी मौजूद रहे।