क्या सच है

गली -गली में है शोर ,देश में जासूसी का है जोर।

भारतीय अर्थव्यवस्था , एकतरफ कुँआ एक तरफ खाई।

किसानो का दर्द सुनो सरकार -हे राम

अनिल त्रिपाठी