इन योजनाओं पर बैंक ऑफ बड़ौदा दे रहा है लोन

नई दिल्ली : छोटी बचत योजनाएं बड़े काम की इनवेस्टमेंट होती हैं। ये योजनाएं लाॅन्ग टर्म में बेहतर रिटर्न देती हैं। साथ ही अगर जरूरत पड़ जाए तो इनके जरिए लोन भी लिया जा सकता है। आइए जानते है ऐसी दो स्कीम के विषय में जो बचत के साथ-साथ इमर्जेंसी के वक्त लोन के लिए भी उपयुक्त रहें।

किसान विकास पत्र 

इस स्कीम में कोई भी व्यक्ति 1000 रूपये से अपना इनवेस्टमेंट शुरू कर सकता है, इसकी कोई अपर लिमिट नहीं है। इस स्कीम पर इनवेस्टमेंट करने पर 6.9 प्रतिशत का ब्याज मिल रहा है। पहले यह स्कीम 113 महीने में मेच्योर हो जाती थी, लेकिन अब यह बढ़कर 124 महीना हो गया है। 

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट 

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर इस समय 6.8 प्रतिशत ब्याज दर मिल रहा है। बेहतर रिटर्न का साथ-साथ यहां सिक्योरिटी भी मिलती है। साथ ही 80सी के जरिए टैक्स में छूट भी लिया जा सकता है। यहां भी महज 1,000 रुपये से इनवेस्टमेंट शुरू किया जा सकता है। और पांच साल बाद यह बढ़कर  1,389.49 रुपये हो जाएगा। 

बैंक ऑफ बड़ौदा के अनुसार इन दोनों स्कीम पर 85% तक लोन लिया जा सकता है। लेकिन लोन की शर्त होगी की मैच्योरिटी पीरियड 3 साल से कम हो। तीन साल से अधिक के मैच्योरिटी पीरियड पर फेस वैल्यू का 80% प्रतिशत लोन लिया जा सकता है। बैंक की वेबसाइट के अनुसार इस पर ब्याज दर 11.9%मिलेगा।