राज कुंद्रा और पोर्न फिल्में: गंदे धंधे की दुनिया

फिल्म, फैशन और इंटरटेनमेंट के नाम पर देश में करोड़ो का नहीं, अरबों का काला धंधा चल रहा है। एक व्यवस्थित रैकेट चला कर लड़कियों को फंसाया जाता है और उसके बाद उनकी पोर्न फिल्म बना ली जाती है। पैसा कमाने के लिए इस गंदे धंधे में अपनी इच्छा से आने वाली लड़कियों की भी कमी नहीं है। कोरोना में बाकी सारे धंधे तो बंद थे, पर पोर्न या ब्लू फिल्म का धंधा बहुत जोश से चल रहा था। लाॅकडाउन के दौरान पोर्न कंटेंट देखने में जबरदस्त उछाल आया था। लोगों के पास भरपूर समय था और जो चाहिए था, वह आसानी से उपलब्ध था। फिल्में, धारावाहिक और वेब सिरीज की शूटिंग बंद होने से तमाम दूसरे और तीसरे नंबर की हीरोइनों से ले कर माॅडल तक बेकार हो गई थीं। इसमें से तमाम जो काम मिले, वह करने को तैयार हो गई थीं। दुनिया के तमाम देशों में पोर्न का कारोबार बाकायदे चलता है। अनेक देशों में पोर्न इंडस्ट्री को मान्यता प्राप्त है। पोर्न स्टार भी खुद को कलाकार मानते हैं। दरअसल बात यह है कि इस गंदे धंधे में पैसा बहुत है। भारत में इस धंधे पर प्रतिबंध है। फिर भी चोरीछुपे भारत में अन्य देशों की अपेक्षा अधिक फिल्में बन रही हैं। फिल्म अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद ब्लू फिल्मों की अंधेरी गली के सभी प्रकरण बाहर आने लगे हैं 

शिल्पा शेट्टी से शादी करने से पहले राज कुंद्रा को कोई खास नहीं जानता था। राज के बारे में यह चर्चा तो होती ही रही है कि यह भाई कारोबार क्या करता है? राज और शिल्पा की जिस तरह लेविश लाइफ स्टाइल है, उसे देख कर अनेक बार सवाल उठे हैं कि इन दोनों के पास इतना अधिक पैसा आता कहां से है? कपिल शर्मा ने तो अपने काॅमेडी शो में यह सवाल भी किया था कि 'आप लोगों की जलसा करते हुए तस्वीरें और वीडियो आती रहती हैं, आखिर आप करते क्या हैं?' राज ने गोलगोल जवाब दे कर बात टाल दी थी। सोशल मीडिया पर ये बातें चल रही हैं कि कपिल शर्मा ने जो सवाल किया था, उसका सही जवाब अब मिला है और यह जवाब मुंबई की क्राइम ब्रांच ने दिया है कि राज की कमाई पोर्न फिल्मों से आ रही थी।

राज कुंद्रा के खिलाफ फरवरी, 2021 में पोर्न फिल्म बनाने और एप्लिकेशन पर अपलोड करने की पुलिस से शिकायत की गई थी। अभिनेत्री-माॅडल शर्लिन चोपड़ा और पूनम पांडेय ने पहले ही पुलिस को यह स्टेटमेंट दिया था कि राज कुंद्रा अश्लील फिल्में बनाते हैं। शर्लिन चोपड़ा ने तो यहां तक कहा था कि उसे एडल्ट इंडस्ट्री में लाने वाले राज कुंद्रा ही हैं। एक प्रोजेक्ट यानी पोर्न फिल्म में काम करने के लिए 30 लाख रुपए मिलते थे। अकेली शर्लिन ने इस तरह के 15 से 20 प्रोजेक्ट किए हैं। यह तो केवल शर्लिन की बात है। दूसरी इस तरह की कितनी होंगी, किसे पता है। पूनम पांडेय ने राज कुंद्रा और उनके साथी सौरभ कुशवाहा के खिलाफ मुंबई हाईकोर्ट में शिकायत की है। लंदन में पैदा हुए और वहीं पलेबढ़े राज कुंद्रा एक समय पश्मीना की शाल बेचने का कारोबार करते थे। लंदन से दुबई और नेपाल के चक्कर लगा कर पश्मीना शाल खरीद कर कई गुना महंगे दाम पर बड़े बड़े फैशन स्टोर को बेचते थे। उसके बाद उन्होंने कई धंधों में हाथ आजमाए थे। राज का नाम सट्टेबाजी से ले कर अनेक दो नंबरी धंधो में आया। 2009 में राज ने पत्नी कविता को तलाक दे कर शिल्पा शेट्टी से शादी की थी। अपनी इमेज बनाए रखने के लिए राज ने शिल्पा शेट्टी फाउंडेशन शुरू किया था। सतयुग गोल्ड, सुपर फाइट लीग, होस्पिटालिटी और रेस्तरां चेन सहित अनेक काम शुरू किया था, जो दुनिया को दिखाया जा सके। अंदर ही अंदर उनके न दिखाई देने वाले तमाम धंधे चल रहे थे। पोर्न कंटेंट के धंधे के लिए राज ने अपने भाई के साथ बिटेन में एक कंपनी बनाई थी। कहा तो यह भी जाता है कि इस कंपनी के मालिक और इन्वेस्टर राज हैं। एच नाम के 5 लोगों के ह्वाटसएप ग्रुप से पोर्न बिजनेस की चर्चा होती थी। पुलिस जांच अब जैसेजैसे आगे बढ़ रही है, वैसेवैसे राज कुंद्रा का सच्चा चेहरा सामने आ रहा है।

राज कुंद्रा और शिल्पा शेट्टी सेलिब्रिटी कपल हैं। इसलिए राज के इस मामले की खूब चर्चा हो रही है। बाकी राज तो देश के पोर्न बिजनेस में बहुत छोटी मछली हैं। पोर्न और ब्लू फिल्मों के अड्डे देश को कोनेकोने में चल रहे हैं। मुंबई में रोजाना सैकडों लड़कियां हीरोइन बनने का सपना ले कर आती हैं। पोर्न बनाने वाले फिल्म, धारावाहिक और वेब सिरीज को कह कर काम देते हैं। काम करते समय यह कहा जाता है कि अमुक बैडरूम सीन या बोल्ड सीन स्क्रिप्ट की डिमांड है। नई-नई लड़कियों को पता न चल सके, इस तरह ड्रग्स दिया जाता है। शूटिंग करा कर उसे पोर्न फिल्म के रूप में विदेश में बेच दिया जाता है। पोर्न की भी हाडकोर पोर्न और शाफ्ट पोर्न, इस तरह की दो कैटेगरी बनाई जाती है। मुंबई के एक पुलिस अधिकारी ने व्यक्तिगत रूप से बताया कि लड़कियों को फंसाने की बातें भले होती हैं, बाकी लड़कियां मोटी रकम के लालच में खुद यह काम करने के लिए तैयार हो जाती हैं। पेमेंट या दूसरी कोई परेशानी होती है तो बात पुलिस तक पहुंचती है। पोर्न इंडस्ट्री में लड़कों का अधिक शोषण होता है। लड़कियों की अपेक्षा लड़कों को बहुत कम पैसा मिलता है। इसके अलावा कपल को न पता चले, इस तरह गुप्त कैमरा लगा कर पोर्न फिल्म बनाई जाती है। मिनट, दो मिनट की क्लिप उका भी अच्छाखासा पैसा मिलता है। महानगरों में ऐसे भी तमाम कपल हैं, जो खुद अपनी पोर्न बना कर बेचते हैं। पोर्न इंडस्ट्री में बच्चों का बहुत ही खराब तरह से उपयोग होता है। इस धंधे में इतनी अधिक सांठगांठ है कि जानकर सामान्य आदमी का तो दिमाग ही घूम जाए। पोर्न देखने से लोगों में खास कर यंगस्टर्स पर मानसिक रूप से जो असर पड़ता है, वह अलग मुद्दा है। यह गंदा धंधा कभी भी खत्म होने वाला नहीं है, फिर भी जितना कम हो, उतना अच्छा है।


वीरेन्द्र बहादुर सिंह 

जेड-436ए, सेक्टर-12,

नोएडा-201301 (उ0प्र0)

मो-8368681336

virendra4mk@gmail.com