एक ही हॉस्पिटल में होने के बावजूद दिलीप कुमार से नहीं मिले नसीरुद्दीन शाह, अब रह गया मलाल

ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार का हाल ही में निधन हुआ है। ऐसे में अभी तक बॉलीवुड इस सदमे से उभर नहीं पाया है। दिलीप कुमार से जुड़े किस्से इन दिनों हर तरफ सुनाई दे रहे है। वही सभी लोग उन्हें याद भी कर कर रहे है। वैसे तो उनकी अंतिम यात्रा में कई सितारे मौजूद थे। लेकिन इन सबके बीच एक कलाकार ऐसे भी थे जिन्हें अंतिम बार दिलीप कुमार को देखना भी नसीब नहीं हुआ और उन्हें मन में इस बात का मलाल है कि वो हिंदुजा अस्पताल में होते हुए भी उनसे एक आखिरी बार नहीं मिल पाए। दरअसल, नसीरुद्दीन शाह बीते बुधवार को जब दिलीप कुमार ने हिंदुजा अस्पताल में अपनी अंतिम सांसे ली, उसी दौरान नसीरुद्दीन शाह को अस्पताल से छुट्टी मिली थी और वो अपने घर लौटकर आए थे। बता दे, नसीरुद्दीन की तबीयत खराब थी जिसकी वजह से वो न तो दिलीप कुमार के अंतिम दर्शन करने के लिए उनके घर जा पाए और ना ही उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए कब्रिस्तान।मीडिया के साथ दिलीप कुमार के बारे में बात करते हुए नसीरुद्दीन शाह काफी भावुक हो गए। नसीरुद्दीन शाह ने खुलासा करते हुए बताया कि जब वो अस्पताल में भर्ती थे तो उस दौरान सायरा बानो उनसे मिलने के लिए और उनका हालचाल लेने के लिए आई थीं। नसीरुद्दीन शाह ने बताया कि दिलीप कुमार उनकी तबीयत के बारे में जानना चाहते थे। इसलिए उन्होंने सायरा बानो को अस्पताल में उनके पास मिलने के लिए भेजा था। मीडिया से बातचीत में नसीरुद्दीन शाह 7 जुलाई 2021 को याद करते हुए काफी भावुक हो गए। उन्होंने मीडिया से बातचीत में उस दिन को याद किया जब अस्पताल में दिलीप कुमार के कहने पर सायरा बानो उनसे मिलने के लिए आईं थीं। उन्होंने उस पल को याद करते हुए कहा, सायरा बानो ने मेरे सिर पर हाथ रखकर मुझे आशीर्वाद दिया। सायरा बानो न मुझसे ये भी कहा, साहब आपके बारे में पूछ रहे थे। नसीरुद्दीन शाह ने मीडिया से बातचीत में ये भी कहा कि उनके दिल में ये मलाल हमेशा रहेगा कि वो दिलीप कुमार के अंतिम दर्शन नहीं कर पाए। उन्होंने कहा, सायरा बानो की ये बात सुनकर मैं काफी भावुक हो गया। मैं अस्पताल से छुट्टी मिलने से पहले एक बार बस उनसे मिलना चाहता था। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण जिस दिन मुझे छुट्टी मिली, उसी दिन दिलीप साहब ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। नसीरुद्दीन शाह ने उन दिनों को भी याद किया जब वो संघर्ष कर रहे थे और उन्होंने दिलीप कुमार के घर पर कई दिन बिताए थे। उन्होंने कहा, मैं लगभग एक हफ्ते तक उनके घर पर रुका था। उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे अपने घर लौट जाना चाहिए और पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए। अच्छे परिवार के लोगों को अभिनेता बनने की इच्छा नहीं रखनी चाहिए।