---- तीखा तीर ----

किसानों  को  समझाईये 

भेजो  उनके  गांव 

सीमा  पर  हैं  जमे  हुये 

सरकार  से  कर  रहे  मांग 

महम  जख्म  पर  लगाईये 

भर  जायेंगे घाव

----- वीरेन्द्र तोमर